टीवी रेटिंग के हेरफेर पर NDTV से बोले मुंबई के पुलिस प्रमुख, 'हमें BARC से संदिग्ध पैटर्न को लेकर सबूत मिले हैं'

पुलिस कमिश्‍नर परमवीर सिंह (Paramvir Singh) ने इससे पहले बताया था कि मामले में दो लोगों को अरेस्‍ट किया गया है. इसमें से एक रेटिंग को आंकने के लिए 'पीपल मीटर' लगाने वाली एक एजेंसी का पूर्व कर्मचारी भी है.

मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के प्रमुख परमवीर सिंह ने कहा है कि टीवी रेटिंग के 'हेरफेर' को लेकर हमें BARC के संदिग्‍ध पैटर्न को लेकर अहम सबूत मिले हैं. NDTV से बातचीत में उन्‍होंने कहा कि स्‍वतंत्र एजेंसी हंसा की ओर से इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई गई है. यही नहीं, इस एजेंसी ने हमारे साथ कुछ डिटेल्‍स भी शेयर किए है. पुलिस कमिश्‍नर ने साफ कहा कि यह बदले की कार्रवाई नहीं है. उन्‍होंने कहा कि मुंबई पुलिस बिल्‍कुल पेशेवर अंदाज में मामले की जांच करेगी. इस संबंध में हमें BARC से सबूत मिले हैं, हंसा ने भी संदिग्‍ध गतिविधि के डिटेल्‍स हमारे साथ शेयर किए हैं. 

कैसे तय होती है टीवी रेटिंग और कैसे हेराफेरी कर सकते हैं चैनल, जानिए अहम बातें

पुलिस कमिश्‍नर परमवीर सिंह (Paramvir Singh) ने इससे पहले बताया था कि मामले में दो लोगों को अरेस्‍ट किया गया है. इसमें से एक रेटिंग को आंकने के लिए 'पीपल मीटर' लगाने वाली एक एजेंसी का पूर्व कर्मचारी भी है. उन्‍होंने कहा था कि रिपब्लिक टीवी के अधिकारियों, जो न्‍यूज चैनल्‍स में सर्वोच्‍च टेलीविजन रेटिंग प्‍वाइंट्स (TRP) का दावा कर रहे हैं, को जल्‍द ही समन किया जाएगा. उन्‍होंने कहा था कि चैनल से जुड़े किसी भी व्‍यक्ति, चाहे वह कितने भी शीर्ष प्रबंधन से जुड़ा और सीनियर हो, से पूछताछ की जाएगी. यदि मामले में उनकी संलिप्‍तता है तो उनसे पूछताछ होगी. यदि किसी अपराध का खुलासा होता है कि अकाउंट को सीज किया जाएगा और अन्‍य कार्रवाई की जाएगी.

TRP पत्रकारिता के चक्कर में बड़े-बड़े संस्थान आ गए, सरकार मीडिया की आजादी की पक्षधर : जावड़ेकर

मुंबई पुलिस के अनुसार जांच, न्‍यूज ट्रेंड में हेरफेर और झूठी कहानी (false narrative) किस तरह फैलाई जाती है, इसके विस्‍तृत विश्‍लेषण का हिस्‍सा है.मुं बई पुलिस के प्रमुख ने कहा कि चैनलों के बैंक अकाउंट्स की भी जांच की जाएगी, हम ये भी देख रहे हैं जो फर्जी TRP से विज्ञापन मिले थे वो पैसा अपराध का हिस्सा माना जाएगा या नही.

दूसरी ओर, रिपब्ल‍िक के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि वे मुंबई पुलिस कमिश्नर के खिलाफ वो कानूनी कार्रवाई करेंगे. उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस कमिश्नर इसलिए गलत आरोप लगा रहे हैं क्योंकि सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच को लेकर हमने उनसे सवाल किये थे. अर्नब ने अपने बयान में कहा, उन्हें सार्वजनिक रूप से माफीनामा जारी करना चाहिए या फिर कोर्ट में हमारा सामना करने को तैयार रहें.'

Newsbeep

टीवी रेटिंग का गोरखधंधा : Republic TV सहित तीन चैनलों की जांच

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com