दिल्ली में अब हमें कोरोना के साथ जीने की तैयारी करनी पड़ेगी, लॉकडाउन में बंदिशें घटेंगी : केजरीवाल

शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक लोगों का बाहर निकलना बंद रहेगा जब तक कि किसी जरूरी सर्विस के लिए बाहर न निकलना हो

दिल्ली में अब हमें कोरोना के साथ जीने की तैयारी करनी पड़ेगी, लॉकडाउन में बंदिशें घटेंगी : केजरीवाल

नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि कल से दिल्ली में आंशिक रूप से लॉकडाउन खोला जा रहा है. अब हमें कोरोना के साथ जीने की तैयारी करनी पड़ेगी. आज दिल्ली इसके लिए तैयार है. हमने सारी व्यवस्था दिल्ली में कर ली है. सभी सरकारी दफ्तर खोलने जा रहे हैं. जो सर्विस वाले दफ्तर हैं वहां 100 प्रतिशत, जो एसेंशियल सर्विस वाले दफ्तर हैं वहां 100 प्रतिशत और प्राइवेट दफ्तर केवल 33 प्रतिशत कर्मचारी काम करेंगे. हवाई यात्रा और रेल यात्रा बंद रहेंगी. दिल्ली के अंदर और दिल्ली से बाहर जाने वाली बसें नहीं चलेंगी. 

उन्होंने कहा कि स्कूल और कॉलेज सहित सभी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे. सभी होटल और रेस्टोरेंट बंद रहेंगे. सिनेमा हॉल मॉल जिम सब बंद रहेंगे. सामाजिक राजनीतिक और धार्मिक गैदरिंग पर पाबंदी रहेगी. साइकिल रिक्शा, टैक्सी सब बंद रहेंगे. नाई की दुकान और सैलून भी बंद रहेंगे.

उन्होंने कहा कि शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक लोगों का बाहर निकलना बंद रहेगा जब तक कि आपको किसी जरूरी सर्विस के लिए बाहर निकलना ना हो. जिन लोगों को कोई बीमारी है या गर्भवती महिलाएं हैं या छोटे बच्चे हैं उनको घर में रहना होगा.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली को फिर से खोलने का वक्त आ गया है और लोगों को कोरोना वायरस के साथ रहने के लिए तैयार रहना होगा. उन्होंने लॉकडाउन 3.0 के दौरान ‘रेड जोन' के लिए केंद्र द्वारा निर्धारित सभी छूट राष्ट्रीय राजधानी में देने की घोषणा की. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि दिल्ली लॉकडाउन हटाने के लिए तैयार है. 

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार सार्वजनिक स्थानों पर थूकने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी. केजरीवाल ने ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार केंद्र को यह सुझाव देगी कि शहर में सिर्फ निरुद्ध क्षेत्र को ‘रेड जोन' घोषित किया जाए, ना कि पूरे जिले को. वर्तमान में दिल्ली के सभी 11 जिले ‘रेड जोन' घोषित किए गए हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 कहीं नहीं जा रहा और यह असंभव है कि कोरोना वायरस के मामले ‘‘शून्य'' हो जाएं. उन्होंने कहा, ‘‘यह असंभव है कि कोरोना वायरस का एक भी मामला सामने नहीं आए...हमें कोरोना वायरस के साथ रहने के लिए तैयार होना होगा. हमें इसका अभ्यस्त होना होगा.''

दिल्ली सहित देश भर में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है. इसका प्रथम चरण 25 मार्च से 14 अप्रैल तक था. दूसरा चरण 15 अप्रैल से तीन मई तक था. अब लॉकडाउन 3.0 सोमवार (चार मई) से 17 मई तक है.
उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के चलते सरकार का राजस्व और अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई है. उन्होंने कहा कि दिल्ली लॉकडाउन हटाने के लिए तैयार है.

केजरीवाल ने अप्रैल 2019 के आंकड़ों का उल्लेख करते हुए कहा कि सरकार ने पिछले साल अप्रैल में 3,500 करोड़ रुपया अर्जित किया था, जबकि इस साल अप्रैल में उसने सिर्फ 300 करोड़ रुपये प्राप्त किए. उन्होंने कहा, केंद्र ने पूरी दिल्ली को ‘रेड जोन' श्रेणी के तहत रखा है, जिसके चलते बाजार और मॉल नहीं खुल सकते. हमने केंद्र को सिर्फ उन इलाकों को सील करने का सुझाव दिया है, जहां कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं और शेष इलाकों में सभी गतिविधियों की इजाजत दी जा सकती है.

उन्होंने कहा कि शात सात बजे से सुबह सात बजे तक लोगों की आवाजाही की इजाजत नहीं होगी, जैसा कि केंद्र ने सुझाव दिया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि सोमवार से सरकारी और निजी दफ्तर खुलेंगे लेकिन उड़ानों, मेट्रो और बसों पर पाबंदी जारी रहेगी. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में ई-कॉमर्स पोर्टलों के जरिए जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति जारी रहेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि जरूरी सेवाओं से जुड़े दिल्ली सरकार के कार्यालय में सभी कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ काम करेंगे, जबकि निजी कार्यालय 33 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम कर सकते हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘मॉल, सिनेमा, सैलून, मार्केट कॉम्पलेक्स और दिल्ली मेट्रो बंद रहेगी जबकि आवश्यक वस्तुएं बेचने वाली दुकानें खुलेंगी. '' केजरीवाल ने कहा कि विवाह समारोह में 50 लोग जुट सकते हैं.

भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) का कहर बढ़ता ही जा रहा है. देश में जारी लॉकडाउन (COVID-19 Lockdown) के बावजूद संक्रमितों का आंकड़ा 40 हजार पार कर गया है. रविवार शाम को स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक भारत में कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या 40263 हो गई है. पिछले 24 घंटों में कोरोना के 2487 नए मामले सामने आए हैं और 83 लोगों की मौत हुई है. वहीं, देश में कोरोना से अब तक 1306 लोगों की मौत हो चुकी है, हालांकि राहत की बात यह है कि 10887 मरीज इस बीमारी को हराने में कामयाब भी हुए हैं. बता दें कि देश में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए लॉकडाउन को 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है. बता दें कि देश में दूसरे चरण का लॉकडाउन तीन मई तक था, लेकिन गृह मंत्रालय ने इसे बढ़ाकर 17 मई तक कर दिया है. हालांकि इसमें कुछ रियायत भी दी गई है. गृह मंत्रालय की तरफ से जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार ग्रीन जोन और ऑरेंज जोन में कुछ रियायतें भी दी गई हैं.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com