NDTV Khabar

भीषण गर्मी की चपेट में उत्तर भारत, इन चार शहरों में दर्ज हुआ रिकॉर्ड तापमान

देश भीषण गर्मी के प्रकोप से जूझ रहा है. उत्तर भारत के चार शहरों में बढ़ते तापमान ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भीषण गर्मी की चपेट में उत्तर भारत, इन चार शहरों में दर्ज हुआ रिकॉर्ड तापमान

भीषण गर्मी ने तोड़े सारे रिकॉर्ड.

नई दिल्ली:

देश भीषण गर्मी के प्रकोप से जूझ रहा है. उत्तर भारत के चार शहरों में बढ़ते तापमान ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. राजधानी दिल्ली, राजस्थान का चुरू, उत्तर प्रदेश का बांदा और इलाहाबाद में तापमान 48 डिग्री से ऊपर है. चूरू में  पिछले सप्ताह में पारा दो बार 50 डिग्री को पार कर चुका है, जो इस समय अपने तापमान से 8 डिग्री ऊपर है. सोमवार को यूपी के बांदा में 49.2 और इलाहाबाद में 48.9 डिग्री तापमान दर्ज किया गया जो जून महीने में सबसे ज्यादा है. दो दिनों तक तापमान 45 डिग्री या उससे अधिक रहने पर उसे लू घोषित कर दिया जाता है. वहीं, पारा 47 डिग्री को छूने पर इसे 'गंभीर' का टैग मिल जाता है. पिछले 2 वर्षों में गर्मी कहर लगातार बढ़ता जा रहा हैं. बता दें कि 2004 के बाद से, देश ने 15 सबसे गर्म वर्षों में से 11 का अनुभव किया है. 

यह भी पढ़ें: केरल एक्सप्रेस में सवार 4 यात्रियों की भीषण गर्मी से यूपी के झांसी में मौत, रेलवे करेगी जांच


बता दें कि सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी में पारा अभी तक सबसे ऊंचे स्तर 48 डिग्री सेल्सियस तक चढ़ गया था, जबकि उत्तर भारत के कई जगहों पर यह 50 डिग्री के आसपास बना रहा. इस गर्मी से फिलहाल कोई राहत मिलने की संभावना नहीं है. मौसम विभग के अनुसार दक्षिणी और पूर्वोत्तर में मानसून की बेहद धीमी गति के कारण उत्तरी और पश्चिमी भारत के राज्यों को अगले कुछ दिन तक कोई राहत मिलने की संभावना नहीं दिख रही है. 

यह भी पढ़ें: राजधानी दिल्ली में टूटा गर्मी का रिकॉर्ड, जानिए देश के किन हिस्सों में रहा कितना तापमान

जून की बात करें तो दिल्ली के इतिहास में सोमवार को गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए. 48 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ 10 जून, 2019 दिल्ली के इतिहास में इस महीने का सबसे गर्म दिन रहा. इससे पहले नौ जून, 2014 को पालम में सबसे ज्यादा 47.8 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था. भारत मौसम विभाग के क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि पालम वेधशाला में सोमवार को दिल्ली के इतिहास में सबसे अधिक तापमान, 48 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. उन्होंने बताया, ‘‘रूखी पछुआ हवाओं, पश्चिम विक्षोभ का मैदानी इलाकों पर कोई प्रभाव नहीं होना और जून के महीने की भीषण गर्मी के कारण तापमान इतना ज्यादा हुआ है.'

यह भी पढ़ें: दिल्ली के अस्पतालों में गर्मी संबंधी बीमारियों के मरीजों की संख्या बढ़ी, जानिए डॉक्टरों ने क्या कहा...

टिप्पणियां

बता दें कि मौसम विभाग के अनुसार, यदि किसी क्षेत्र में तापमान लगातार दो दिन 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहे तो वहां लू की स्थिति घोषित कर दी जाती है. यदि पारा 47 डिग्री सेल्सियस या उससे ऊपर चला जाए तो ‘लू की गंभीर स्थिति' बन जाती है. विभाग ने बताया कि दिल्ली जैसी छोटी जगहों (भौगोलिक सीमा के आधार पर) पर अगर तापमान एक दिन भी 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर चला जाए तो लू की स्थिति घोषित कर दी जाती है. पंजाब और हरियाणा में भी कई जगहों पर पारा 45 के पार रहा.

VIDEO: राजस्‍थान में भीषण गर्मी, कुछ जिलों में पारा 50 डिग्री के पार​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement