NDTV Khabar

उफनती नदी में 13 घंटे बाढ़ के पानी में तैरने के बाद आखिरकार ऐसे बची बुजुर्ग महिला

ताप्ती लगातार 80 किलोमीटर तक तैरती रहीं, तब जाकर किसी की उन पर नजर पड़ी.

14 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
उफनती नदी में 13 घंटे बाढ़ के पानी में तैरने के बाद आखिरकार ऐसे बची बुजुर्ग महिला

उफनती नदी में 13 घंटे बाढ़ के पानी में तैरने के बाद आखिरकार बची बुजुर्ग महिला- प्रतीकात्मक फोटो

वर्धमान (पश्चिम बंगाल): बाढ़ प्रभावित वर्धमान जिले में उफनती दामोदर नदी में 62 वर्षीय ताप्ती चौधरी ने 13 घंटे तक पानी में तैरते रहकर अपनी जान बचाई. ताप्ती लगातार 80 किलोमीटर तक तैरती रहीं, तब जाकर किसी की उन पर नजर पड़ी.

पूर्वी वर्धमान जिले के कालीबाजार की निवासी ताप्ती आंगनवाड़ी में कर्मचारी हैं. वह शनिवार शाम को कौतूहल के चलते दामोदर नदी के उफान को देखने गई थीं. लेकिन दुर्घटनावश वह नदी में गिर गईं और एक क्षण में बहने लगीं. उन्होंने मदद के लिए पुकारा लेकिन आसपास उन्हें बचाने वाला कोई नहीं था.

यह भी पढ़ें- राजस्थान के चार जिले जलमग्न; भारी बारिश की आशंका, पश्चिम बंगाल में 12 लोगों की मौत

पूरी रात वह तैरते रहने के लिए मशक्कत करती रहीं और रविवार सुबह मदद के लिए उनकी पुकार बेकार नहीं गई. कुछ मछुआरों ने उन्हें देख लिया और रविवार सुबह साढ़े सात बजे उन्हें बचा लिया गया. जब इस महिला को बचाया गया, तब वह पूरी तरह होश में थीं.

यह भी पढ़ें- देश के कई हिस्सों में बारिश और बाढ़ का कहर जारी, पश्चिम बंगाल में 16 लोगों की मौत

ताप्ती ने कहा, ‘‘मुझे पता चला कि वह स्थान हुगली जिले के परसुरा में मुंडेश्वरी नदी का मरकुंडा फेरी घाट था. उन्होंने मुझे बताया कि यह स्थान उस स्थान से 80 किलोमीटर दूर है, जहां मैं नदी में गिरी थी. बाद में उन्हें अस्पताल ले जाया गया और फिर उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई.

वीडियो- प्राइम टाइम इंट्रो- कुदरत से खिलवाड़ कब तक


अब भी सदमे से उबरने की कोशिश कर रहीं ताप्ती ने अपने घर पर संवाददाताओं से कहा कि उन्हें यकीन नहीं हो रहा है कि वह मौत के मुंह से बचकर निकल आई हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement