NDTV Khabar

पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी ने लगाया फोन टैपिंग का आरोप, कहा- मेरे पास सबूत भी हैं

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने शनिवार को दावा किया कि उनका फोन टैप किया गया और उनके पास इस आरोप को साबित करने के लिए सबूत मौजूद है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी ने लगाया फोन टैपिंग का आरोप, कहा- मेरे पास सबूत भी हैं

ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. ममता बनर्जी ने लगाया फोन टैपिंग का आरोप
  2. कहा, मेरे पास टैपिंग के सबूत भी हैं
  3. बोलीं, सरकार के इस बारे में सब पता है
कोलकाता :

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को दावा किया कि उनका फोन टैप किया गया और उनके पास इस आरोप को साबित करने के लिए सबूत मौजूद है. बनर्जी ने राज्य सचिवालय नबन्ना में मीडियाकर्मियों से कहा, "मेरा फोन टैप किया गया, मुझे पता है. चूंकि मुझे जानकारी मिली है, इसलिए मेरे पास सबूत है." यह पूछे जाने पर कि क्या वह इस मामले को केंद्र के साथ उठाएंगी? बनर्जी ने कहा, "वहां उठाने के लिए क्या है? सरकार को तो पता है. सरकार ने ही तो कराया है यह." आपको बता दें कि एक दिन पहले ही सोनिया गांधी ने आरोप लगाया था कि सरकार ने व्हाट्सऐप के माध्यम से सामाजिक कार्यकर्ताओं और पत्रकारों की जासूसी के लिए इजरायली सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया था. 

WhatsApp के जरिये जासूसी में क्या सरकार की है कोई भूमिका? यहां समझें पूरा मामला 


हालांकि सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) पर निशाना साधते हुए भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने शनिवार को कहा कि सोनिया को बताना चाहिए कि यूपीए सरकार के समय तत्कालीन केंद्रीय मंत्री प्रणब मुखर्जी और तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह की जासूसी का आदेश किसने दिया था. नड्डा ने कहा कि इस विषय पर सोनिया का बयान ‘झूठा तथा देश को गुमराह करने के इरादे से दिया गया' है. 

टिप्पणियां

प्राइवेसी के उल्लंघन को लेकर सरकार चिंतित, रविशंकर प्रसाद ने WhatsApp से मांगा जवाब, कहा...

नड्डा ने एक बयान में कहा, ‘‘भाजपा इस झूठे बयान की कड़ी निंदा करती है जो द्वेषपूर्ण है.''उन्होंने कहा कि सरकार इस मुद्दे पर अपना रुख पहले ही साफ कर चुकी है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष को साफ करना चाहिए कि कांग्रेस नीत यूपीए सरकार के समय जासूसी का आदेश किसने दिया था. नड्डा ने कहा, ‘‘श्रीमती गांधी क्या देश को बता सकती हैं कि 10 जनपथ पर किसने यूपीए सरकार में मंत्री रहे मुखर्जी और उस समय के सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह की जासूसी का आदेश दिया.''



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement