पश्चिम बंगाल सरकार 10वीं तक कक्षा में ‘फेल नहीं करने’ की नीति खत्म करेगी

पश्चिम बंगाल सरकार पांचवीं और आठवीं कक्षा में 'उत्तीर्ण-अनुत्तीर्ण' (पास-फेल) की नीति को फिर बहाल करने की तैयारी कर रही है.

पश्चिम बंगाल सरकार 10वीं तक कक्षा में ‘फेल नहीं करने’ की नीति खत्म करेगी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल सरकार पांचवीं और आठवीं कक्षा में 'उत्तीर्ण-अनुत्तीर्ण' (पास-फेल) की नीति को फिर बहाल करने की तैयारी कर रही है और जल्द इसका ऐलान हो सकता है. इस बीच राज्य के शिक्षामंत्री पार्थ चटर्जी ने शुक्रवार को कहा कि राज्य सरकार 10वीं तक कक्षा में फेल नहीं करने की नीति खत्म करने के पक्ष में है. चटर्जी ने कहा कि केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने क्योंकि पांचवीं और आठवीं कक्षा में ही ‘उत्तीर्ण-अनुत्तीर्ण' नीति को लागू करने की अनुशंसा की है. इसलिए पश्चिम बंगाल सरकार ने फिलहाल इस नीति को इन दोनों कक्षाओं में ही लागू करने का फैसला किया है. 

QS India Rankings: कलकत्ता विश्वविद्यालय को क्यूएस इंडिया रैंकिंग में मिला 11वां स्थान

पत्रकारों से उन्होंने कहा, ‘‘मौजूदा समय में पांचवीं एवं आठवीं कक्षा में ‘उत्तीर्ण-अनुत्तीर्ण' नीति लाना बेहतर है. हम केंद्र सरकार के निर्देशों से परे जाकर पांचवीं से 10वीं कक्षा तक इस व्यवस्था का विस्तार नहीं कर सकते हैं. मंत्री ने कहा कि छात्रों को छठी और नवीं कक्षा में जाने के लिए परीक्षा देनी होगी. उन्होंने कहा कि अनुत्तीर्ण छात्रों को विशेष कोचिंग दी जाएगी और उन्हें दो महीने बाद दूसरा मौका दिया जाएगा.

Newsbeep

कुशलता के कदम : पश्चिम बंगाल में कौशल विकास के जरिए रोजगार​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)