कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में सरकार की मदद के लिए उद्योगपति ने की 30 आलीशान बंगलों की पेशकश

कोलकाता के एक कारोबारी हर्षवर्धन नियोतिया ने कोरोनावायरस (Coronavirus) से चल रही जंग में पश्चिम बंगाल सरकार की मदद करने के लिए अपने 30 आलीशान बंगलों का इस्तेमाल करने की पेशकश की है.

कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में सरकार की मदद के लिए उद्योगपति ने की 30 आलीशान बंगलों की पेशकश

कोलकाता के व्यवसायी हर्षवर्धऩ नियोतिया ने बंगलों की पेशकश की

खास बातें

  • कोरोनावायरस के खिलाफ सरकार की मदद के लिए उद्योगपति ने बढ़ाया हाथ
  • आइसोलेशन सेंटर बनाने के लिए 30 बंगलों की पेशकश
  • पश्चिम बंगाल सरकार ने प्रस्ताव स्वीकार किया
कोलकाता:

कोलकाता के एक उद्योगपति हर्षवर्धन नियोतिया ने कोरोनावायरस (Coronavirus) से चल रही जंग में पश्चिम बंगाल सरकार की मदद करने के लिए अपने 30 आलीशान बंगलों का इस्तेमाल करने की पेशकश की है. ये बंगले 24 परगना जिले में स्थित हैं. नियोतिया ने बताया कि राज्य सरकार ने उनकी इस पेशकश को स्वीकार कर लिया है और डायमंड हार्बर के सब-डिविजनल ऑफिसर इन बंगलों का चार्ज लेने के लिए अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं. उद्योगपति का कहना है कि वह जितना संभव हो अपनी तरफ से सरकार की मदद करना चाहते हैं.

नियोतिया ने पीटीआई को बताया, "यहां संकट है और हमारे पास इंफ्रास्ट्रक्चर है, जिसका उपयोग इस परिस्थिति से बाहर आने में किया जा सकता है. हमने 30 सुइट्स की पेशकश की है. हम इस वक्त किसी भी व्यावसायिक पहलू के बारे में नहीं सोच रहे हैं बल्कि इस समय जितना मुमकीन हो सरकार को समर्थन देना चाहते हैं." 

उन्होंने कहा, "हमने इनके इस्तेमाल पर किसी तरह की कोई शर्त नहीं रखी है. यह सरकार के ऊपर है. वह इनका उपयोग क्वारंटाइन या आइसोलेशन सुविधा में कर सकती है या फिर चिकित्सा कर्मियों के रहने के लिए कर सकती है." नियोतिया ने कहा कि उनकी कंपनी मेडिकल सपोर्ट को छोड़कर खाने और हाउसकीपिंग जैसी सभी चीजों की भी पेशकश करेगी.

नियोतिया ने कहा कि ये बंगले होटल के बजाये क्वारंटाइन या आइसोलेशन सेंटर के लिए ज्यादा उपयुक्त रहेंगे क्योंकि होटल में कमरे एक-दूसरे से लगे हुए होते हैं. केंद्र सरकार ने नियमों में ढील दी है कि कोरोनावायरस के लिए किए गए सहयोग को कॉरपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व के अंतर्गत माना जाएगा. 

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़कर बुधवार को 562 हो गए जबकि मृतकों में एक व्यक्ति के वायरस से संक्रमित नहीं होने का पता चलने के बाद मरने वालों की संशोधित संख्या कम होकर नौ रह गई. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार सुबह जारी ताजा आंकड़ों में बताया कि दिल्ली में जिस दूसरे व्यक्ति की मौत हुई थी, वह कोविड-19 से संक्रमित नहीं था इसलिए भारत में मृतक संख्या कम होकर नौ हो गई है.