NDTV Khabar

जब कोर्ट में पत्नी से जुड़े सवाल पर बोला हेडली- 'सुहाग को बचाना' तो फिल्मी डायलॉग है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जब कोर्ट में पत्नी से जुड़े सवाल पर बोला हेडली- 'सुहाग को बचाना' तो फिल्मी डायलॉग है

डेविड कोलमैन हेडली (फाइल फोटो)

मुंबई:

उज्जवल निकम अगर संस्कृत बोलेंगे तो मैं भी अरबी और फारसी बोलूंगा... 26/11 आतंकी हमले में माफी के गवाह डेविड हेडली की 24 मार्च को हुई गवाही में ऐसे कई पल आए, जब इस तरह की नोंकझोक होती दिखी।

अदालती कार्यवाही के दौरान एक बार तो आतंकी अबु जुंदाल के वकील अब्दुल वहाब खान भावुक हो गए। अमेरिका में हेडली को मिली माफी से जुड़े एक सवाल पर जब जज जीए सानप ने याद दिलाया कि वह माफी अमेरिकी कानून के तहत मिली है, तो वहाब खान बिफर उठे। वहाब ने कहा हमला मेरे देश की जमीन पर हुआ था, हमारे अफसर मारे गए थे, मैं अपने देश का कानून मानता हूं। आखिरकार जज को उन्हें समझाना पड़ा कि हम आपका दर्द समझते हैं और ये हम सबका दर्द है।

(पढ़ें- हेडली ने बताया, लश्कर ने बाल ठाकरे को मारने की कोशिश की थी)


अमेरिका में बैठा हेडली वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये सब सुन रहा था। अदालती कार्रवाई यूं तो अंग्रेजी मे चल रही थी, लेकिन उसकी पहली पत्नी फ़ायजा से जुड़ी एक बात पर वह हिंदी में ही बोल उठा। दरअसल जब यह बात सामने आई कि वह हेडली को छुड़वाने पाकिस्तान में लश्कर ए तैयबा के लोगों के पास गई थी। इस पर वहाब ने हिंदी में जैसे ही कहा कि कोई भी पत्नी अपने सुहाग को बचाने के लिए ऐसा कर सकती है, तो हेडली तपाक से हिंदी भाषा में ही बोल उठा। उसने कहा 'सुहाग को बचाने की बात तो फिल्मी डायलॉग जैसा है।' हेडली ने साथ ही बताया कि उसकी पहली पत्नी फ़ायजा को लगता था कि वह लश्कर के लोगों की बात मानता हूं और अगर वह कहेंगें तो मैं आतंक के रास्ते से हट जाऊंगा।

(पढ़ें- डेविड ने लश्‍कर-ए-तयबा को दिया था 80 लाख चंदा)

अदालती कार्यवाही के दौरान एक पल ऐसा भी आया, जब जुंदाल के वकील ने पूछा कि क्या विशेष सरकारी वकील उन्हें पाकिस्तान भेजना चाहते हैं? दरअसल किसी बात पर जज जीए सानप ने वहाब से कहा कि हेडली आपका नाम अच्छी तरह से जानता है। इस पर वहाब ने चुटकी लेते हुए कहा कि पता नहीं उज्जवल निकम अमेरिका जाकर उसे क्या-क्या बताकर आए हैं।

इस निकम भी भला कैसे चुप रहते, उन्होंने तपाक से कह दिया कि वहाब तो पाकिस्तान में ज्यादा मशहूर हैं। इतना सुनना था कि वहाब उत्तेजित हो गए और पूछ बैठे कि क्या आप मुझे पाकिस्तान भेजना चाहते हैं?

वहाब खान हेडली से बार- बार उसकी पत्नी साजिया से जुड़े सवाल पूछ रहे थे और हेडली  बार-बार उसका निजी मामला कहकर जवाब देने से मना कर रहा था। वहाब के ये पूछने पर कि क्या एनआईए से पूछताछ के दौरान साजिया को साजिश की जानकारी होने की बात बताई थी? इस पर हेडली ने मजाकिया लहजे में पूछा, 'कौन सी साजिश?  खाना बनाने की...'

टिप्पणियां

एनआईए से हेडली की पूछताछ के संबंध में ही एक सवाल के जवाब में हेडली ने जेंटलमैन होने का जिक्र किया। सबको लगा कि वह जुंदाल के वकील वहाब खान की बात कर रहा है, तभी उज्जवल निकम ने साफ किया कि वह एनआईए के उस अफसर को जेंटलमैन कह रहा है जिसने उसकी पत्नी से जुड़े निजी सवाल नहीं पूछे थे।

इस पूरी अदालती कार्यवाही के दौरान जुंदाल के वकील वहाब खान और विशेष सरकारी वकील उज्जवल निकम अक्सर एक दूसरे को टोकते दिखते हैं। कभी मजाकिया लहजे में, तो कभी गंभीर अंदाज में भी।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement