NDTV Khabar

जब सूत्र के हवाले से व्हाट्सएप पर कई नेता बन गए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

135 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जब सूत्र के हवाले से व्हाट्सएप पर कई नेता बन गए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

केशव प्रसाद मौर्य को लेकर तमाम अटकलें लगाई जा रही हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. व्हाट्सएप पर यूपी सीएम कौन बनेगा की अटकलें लगाई जा रही हैं
  2. मनोज सिन्हा, दिनेश शर्मा, केशव प्रसाद, श्रीकांत शर्मा का नाम सबसे ऊपर है
  3. इस बीच मौर्य की तबियत खराब होने की खबर भी आई है
नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री कौन होगा इसे लेकर बीजेपी किसी भी नाम पर अभी तक मोहर नहीं लगा पाया है. बीजेपी अपनी रणनीति के तहत मुख्यमंत्री तय करता है. अक्सर ऐसा देखा गया है चुनाव से पहले बीजेपी अपने मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा नहीं करता है. लेकिन आखिरी में एक ऐसा गुमनाम नेता मुख्यमंत्री बन जाता है जिस की चर्चा शायद पहले कभी मीडिया में हुआ नहीं हुई. ऐसा झारखंड और हरियाणा में भी हो चुका है, क्या ऐसा इस बार भी उत्तर प्रदेश में होगा? चाहे जो भी मुख्यमंत्री बने लेकिन सबसे दिलचस्प बात यह है कि सूत्र के हवाले से व्हाट्सएप पर कई नेता मुख्यमंत्री बन गए है. हर घंटे में एक नया चेहरा सामने आ रहा है और उस में यह लिखा रहता कि सूत्र के हवाले से पता चला है कि यह नेता उत्तर प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री बनने जा रहा है.

अगर व्हाट्सअप की मानी जाए तो उत्तर प्रदेश में दस से भी ज्यादा नाम मुख्यमंत्री के लिए चर्चा में है और उन में से कुछ नाम 'शॉर्टलिस्ट' भी हो चुके हैं. उत्तर प्रदेश में शानदार जीत के बाद बीजेपी की तरफ से जो चार नाम मुख्यमंत्री के लिए मीडिया में सबसे ज्यादा चर्चा में थे वे हैं मनोज सिन्हा, दिनेश शर्मा, केशव प्रसाद मौर्य, श्रीकांत शर्मा. कुछ दिन तक इन नामों पर काफी चर्चा हुई. इस बीच केशव प्रसाद मौर्य की तबियत ख़राब हो गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा. इससे पहले अमित शाह ने यह ऐलान कर दिया कि केशव प्रसाद मौर्य ही तय करेंगे कौन होगा उत्तरप्रदेश का अगला मुख्यमंत्री. फिर खबर आई कि मौर्य बिलकुल ठीक हैं और यह रूटीन चेक अप है. चुनाव व्यस्तता की वजह से थोड़ा ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ है. चाहे ब्लड प्रेशर की वजह से हो या कुछ और अमित शाह के बयान से यह तो साबित हो गया कि मौर्य के मुख्यमंत्री बनने का चांस बहुत कम है. लगता नहीं कि मौर्य खुद अपना नाम मुख्यमंत्री के रूप में आगे बढ़ाएंगे.

फिर कुछ देर के बाद व्हाट्सएप में अब एक नया नाम सामने आता है और वह है गृहमंत्री राजनाथ सिंह. नतीजे के बाद राजनाथ सिंह का नाम कभी भी मुख्यमंत्री के रूप में चर्चा में नहीं था लेकिन व्हाट्सएप पर यह संदेश फैलना लगा कि राजनाथ सिंह उत्तर प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री होंगे. यह भी खबर आई कि राजनाथ सिंह के स्टाफ भी लखनऊ पहुंच चुके है और तैयारी शुरू हो चुकी है. सिर्फ इतना नहीं व्हाट्सएप में यह भी संदेश आने लगा कि राजनाथ के जाने के बाद अब गृहमंत्री का भार अरुण जेटली संभालेंगे और पीयूष गोयल वित्तमंत्री होंगे. लेकिन बीजेपी के तरफ से ऐसी कोई भी औपचारिक घोषणा नहीं हुई है.

टिप्पणियां
फिर कुछ देर बाद एक और नाम चर्चा में आ जाता है - कानपूर से सात बार विधायक रहे सतीश महाना. यह भी चर्चा हुई कि महाना को दिल्ली बुलाया गया और उनकी मुलाकात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से हुई. अब कुछ देर बाद कोई साथी ने कहा कि सतीश महाना नहीं बनेंगे. फिर सूत्र के हवाले से व्हाट्सएप पर दिनेश शर्मा का नाम आया. कुछ देर के बाद दिनेश शर्मा का नाम ख़ारिज कर दिया गया और व्हाट्सएप पर एक और चौंकाने वाला नाम टपका मनीराम, कहा गया कि यह संघ प्रचारक है. फिर हम मनीराम का नाम गूगल सर्च करते है तो इनके बारे में यह भी लिखा आता है कि अपहरणकर्ताओं को चकमा देकर छूटे आरएसएस प्रचारक मनीराम लेकिन हम कन्फर्म नहीं कर पाए यह वही मनीराम है या दूसरा कोई है.

फिर मनीराम के बाद रामलाल का नाम सामने आता है. संदेश आता है कि सूत्र के हवाले से पता चला है कि मनोज सिन्हा का नाम कन्फर्म है. उनके इलाके के लोग खुश हैं कि वह 21 मार्च को शपथ लेंगे. फिर एक साथी बताते है कि एक ज्योतिष ने बताया है कि कोई महिला नेता मुख्यमंत्री बनेगी और वह स्मृति ईरानी है और स्मृति सोमनाथ मंदिर दर्शन करने भी गयी है. यह सब नाम सूत्र के हवाले से व्हाट्सएप पर चल रहे हैं. अब आप खुद तय कर लीजिए मुख्यमंत्री कौन बनेगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement