NDTV Khabar

...जब वेंकैया नायडू ने कहा था कि उपराष्ट्रपति नहीं बनना चाहता, मैं 'उषा-पति' बनकर ही खुश हूं

देश के उपराष्ट्रपति पद के लिए केंद्र में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी ने केंद्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू को प्रत्याशी बनाया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
...जब वेंकैया नायडू ने कहा था कि उपराष्ट्रपति नहीं बनना चाहता, मैं  'उषा-पति' बनकर ही खुश हूं

वेकैंया नायडू को उपराष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने की खबरें पिछले माह से ही आने लगी थीं..

खास बातें

  1. वेंकैया नायडू अभी शहरी विकास और सूचना प्रसारण मंत्री हैं
  2. बीजेपी के दो बार राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रच चुके हैं नायडू
  3. दक्षिण भारत से हैं, यही बात उनके पक्ष में सबसे ज्यादा गई
नई दिल्ली: देश के उपराष्ट्रपति पद के लिए केंद्र में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी ने केंद्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू को प्रत्याशी बनाया है. सोमवार को पार्टी की शीर्ष संस्था संसदीय बोर्ड की बैठक में उनके नाम पर मुहर लगाई गई. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बकायदा एक प्रेस कांफ्रेंस करके उनके नाम का ऐलान किया.  

वेंकैया नायडू अभी शहरी विकास और सूचना प्रसारण मंत्री हैं. बीजेपी के दो बार अध्यक्ष रह चुके हैं. वाजपेयी सरकार में भी मंत्री रहे हैं. दक्षिण भारत से हैं यही बात उनके पक्ष में सबसे ज्यादा गई. पार्टी के भीतरी सूत्रों का कहना है कि वेंकैया नायडू को उपराष्ट्रपति पद का दावेदार बनाए जाने से तेलंगाना और आंध्र प्रदेश जैसे राज्यों में पार्टी की पैठ बढ़ेगी. पार्टी के वरिष्ठतम नेताओं में से एक हैं. अन्य पार्टी के नेताओं से अच्छे रिश्ते हैं. सदन चलाने की क्षमता है. मोदी सरकार के संकटमोचक की छवि है. संसदीय कार्यमंत्री रहने के नाते संसदीय नियमों की जानकारी है.

तब अपनी दावेदारी पर यह बोले थे नायडू
दरअसल, काफी समय से पहले ही कुछ समाचारपत्रों और टीवी चैनलों में वेंकैया नायडू को राष्ट्रपति तथा उपराष्ट्रपति पद के लिए संभावित दावेदार बताया जाता रहा था. 30 मई को पत्रकारों ने जब इस संदर्भ में उनसे सवाल किया था तो उन्होंने चिर-परिचित शैली में जवाब देते हुए कहा था, "न मैं राष्ट्रपति बनना चाहता हूं, न उपराष्ट्रपति... मैं सिर्फ 'उषा-पति' बनकर खुश हूं..."

यह भी पढ़ें
इस वजह से BJP ने बनाया वेंकैया नायडू को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार
गोपाल कृष्‍ण गांधी का गुजरात से ताल्‍लुक, महात्‍मा गांधी के पौत्र पर विपक्षी सहमति की वजहें!
शिवसेना ने कांग्रेस से पूछा - याकूब मेमन की फांसी का विरोध करने वाले गोपालकृष्ण गांधी को उम्मीदवार क्यों बनाया?
उपराष्ट्रपति चुनाव : आंकड़ों में कितनी मजबूत है वेंकैया नायडू की दावेदारी

उस समय से ये खबरें आ रही थीं कि नायडू को उपराष्ट्रपति बनाए जाने का विचार इसलिए जायज़ है, क्योंकि तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में पैठ बनाने की कोशिश कर रही भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के लिए यह फायदेमंद कदम साबित हो सकता है. 

वीडियो


प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करके यह कहा 
प्रधानमंत्री मोदी ने उपराष्ट्रपति पद के लिए वेंकैया नायडू के नाम का ऐलान किए जाने के बाद तीन ट्वीट किए.
 
मैं नायडू को वर्षों से जानता हूं. मैं हमेशा उनकी कर्मठता और दृढ़ता की प्रशंसा की है. वह उपराष्ट्रपति पद के बिल्कुल उपयुक्त प्रत्याशी हैं. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement