NDTV Khabar

कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी पर बीएस येदियुरप्पा के दुख कारण कुछ और तो नहीं?

कर्नाटक में कांग्रेस के 'संकटमोचक' डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी पर बीएस येदियुरप्पा ने दुख जताया है. उन्होंने मंगलवार को कहा कि मैं आपको बता देना चाहता हूं कि डीके शिवकुमार (D. K. Shivakumar) की गिरफ्तारी से मुझे कोई खुशी नहीं है. मैं भगवान से दुआ करता हूं कि वह (D. K. Shivakumar) जल्द ही बाहर आ जाएं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी पर बीएस येदियुरप्पा के दुख कारण कुछ और तो नहीं?

बीएस येदुरप्पा और डीके शिवकुमार जमीन घोटाले में आरोपी हैं

नई दिल्ली:

कर्नाटक में कांग्रेस के 'संकटमोचक' डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी पर बीएस येदियुरप्पा  ने दुख जताया है. उन्होंने मंगलवार को कहा कि मैं आपको बता देना चाहता हूं कि डीके शिवकुमार (D. K. Shivakumar) की गिरफ्तारी से मुझे कोई खुशी नहीं है. मैं भगवान से दुआ करता हूं कि वह (D. K. Shivakumar) जल्द ही बाहर आ जाएं. बीएस येदियुरप्पा ने आगे कहा कि मैंने अपने राजनीतिक जीवन में किसी के लिए घृणा का भाव नहीं रखा है और न ही मैंने किसी का बुरा नहीं चाहा है. शिवकुमार की गिरफ्तारी पर सीएम येदियुरप्पा का दुख के पीछे उनकी पुरानी दोस्ती है और दोनों ही एक ही जमीन घोटाला मामले में आरोपी हैं. जब यह घोटाला हुआ तो डीके शिवकुमार, बीएस येदियुरप्पा सरकार में मंत्री थे. 


डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी के बाद समर्थकों का कनकपोरा में प्रदर्शन, बसों में की तोड़फोड़, लगाई आग


यह मामला 13 मई, 2010 को पूर्वी बेंगलुरु के बेनीगानहल्ली में लगभग साढ़े चार एकड़ के डिमोनेटाइजेशन से संबंधित है. कथित रूप से शिवकुमार को फायदा पहुंचा रहा था. येदियुरप्पा तब मुख्यमंत्री थे और शिवकुमार सरकार में मंत्री. 1986 में NGEF लेआउट के लिए भूमि का अधिग्रहण किया गया था.  शिवकुमार ने इसे 2003 में खरीदा था.  सामाजिक कार्यकर्ताओं टीजे अब्राहम और कबलेगौड़ा ने विशेष लोकायुक्तकोर्ट के समक्ष अलग-अलग शिकायतें दर्ज कीं और भ्रष्टाचार का आरोप लगाया.  इसके बाद लोकायुक्त ने इस मामले में चार्जशीट दाखिल की.  इसको हाईकोर्ट में चुनौती दी गई और 18 दिसंबर, 2015 को येदियुरप्पा, शिवकुमार और एक हामिद अली, जो दक्षिण बेंगलुरु में सब-रजिस्ट्रार के रूप में काम कर रहे थे, के खिलाफ कार्यवाही को रद्द कर दिया गया. हाईकोर्ट के निर्देश को चुनौती देते हुए कबलेगौड़ा और अब्राहम सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए जबकि राज्य सरकार या लोकायुक्त ने इसके खिलाफ अपील नहीं की. 
 

डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी पर कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला, रणदीप सुरजेवाला ने बताई कार्रवाई की वजह

अब येदियुरप्पा और डीके शिवकुमार भले ही विपरीत विचारधाराओं वाले राजनीतिक दल के नेता हों लेकिन सुप्रीम कोर्ट में दोनों साथ मिलकर अपना बचाव करते हैं. सुप्रीम कोर्ट में डीके शिवकुमार के वकील अभिषेक मनु सिंघवी हैं तो येदियुरप्पा की ओर से वकील मुकुल रोहतगी हैं. सवाल इस बात का है डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी पर येदियुरप्पा कहीं इसलिए तो दुख नहीं जता रहे हैं क्योंकि शिवकुमार जमीन घोटाला मामले में उनके साथ आरोपी हैं और दांव कहीं उल्टा न पड़ जाए.

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कर्नाटक के दिग्गज कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को प्रवर्तन निदेशालय ने किया गिरफ्तार

बता दें कि डीके शिवकुमार को प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने गिरफ्तार कर लिया है. उनके ऊपर मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है.  उनकी गिरफ्तारी से  कर्नाटक के विभिन्न हिस्सों में प्रदर्शन हो रहे हैं. राज्य के रमनगारा, चेन्नापट्टन और आसपास के कुछ अन्य शहरों से प्रदर्शन और सड़कों पर टायर जलाकर रास्ते रोकने का प्रयास करने की खबरें हैं. शिवकुमार के समर्थकों ने यहां बंद आहूत किया है. शिवकुमार का विधानसभा क्षेत्र कनकपुरा रमनगारा जिले में आता है. एहतियात के तौर पर जिला प्रशासन ने बुधवार को स्कूलों और कॉलेजों में छुट्टी घोषित कर दी. कांग्रेस नेता की गिरफ्तारी के बाद से कनकपुरा में कल रात सरकारी बसों पर पथराव होने की भी सूचना है.  

डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी पर प्रदर्शन​

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement