NDTV Khabar

नीतीश कुमार ने शिक्षकों की रिटायरमेंट उम्र बढ़ाने की मांग क्यों की?

नीतीश कुमार के अनुसार 58 साल में रिटायर होने के बाद कितनी तकलीफ़ होती थी, जबकि काम करने की पूरी क्षमता रहती थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नीतीश कुमार ने शिक्षकों की रिटायरमेंट उम्र बढ़ाने की मांग क्यों की?
पटना:

पूरे देश के शिक्षकों के लिए एक अच्छी ख़बर है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चाहते हैं कि वो वर्तमान में जो शिक्षकों की रिटायरमेंट की उम्र 60 साल है उसे बढ़ाया जाये. नीतीश कुमार पटना में सोमवार को शिक्षा विभाग के एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. नीतीश कुमार ने शिक्षकों के रिटायरमेंट उम्र बढ़ाने की मांग करते हुए पटना के एक कार्यक्रम में कहा कि आजकल साठ साल में रिटायर करते हैं, 60 साल में रिटायरमेंट में कुछ है. मैंने तो हमेशा मांग की है कि इसे बढ़ाया जाये. उसके बाद नीतीश कुमार ने 21 वर्ष पूर्व की एक घटना का ज़िक्र करते हुए कहा कि श्रद्धेय अटलजी की सरकार में जब मैं मंत्री था तब 1998 में रिटायरमेंट की उम्र दो साल बढ़ा दी थी. सरकार चली थी तब तत्काल उम्र सीमा बढ़ाने का निर्णय हुआ. 

NDA से Shiv Sena के  अलग होने पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार का आया बयान, कहा- हमको तो...


नीतीश कुमार के अनुसार 58 साल में रिटायर होने के बाद कितनी तकलीफ़ होती थी, जबकि काम करने की पूरी क्षमता रहती थी. नीतीश कुमार ने माना कि आज 60 साल में भी सबमें काम करने की पूरी झमता है इसलिए रिटायरमेंट की उम्र बढ़ा ही देना चाहिए. लेकिन अगर आप रिटायर कर गए हैं तब सभी कामों में ध्यान दीजिए. 

टिप्पणियां

बिहार भाजपा अध्यक्ष ने नीतीश कुमार को क्यों लिखा पत्र?

हालांकि उनका कहना था कि इस सम्बंध में निर्णय केंद्र सरकार को लेना होगा जिसे हर राज्य सरकार अपने यहां लागू करेगी. जानकारों का मानना है कि भले नीतीश कुमार ने ये बात दिल से की हो लेकिन अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में इसका असर होगा. आक्रामक रहने वाली शिक्षकों की जमात कम से कम उनकी इस भावना और घोषणा के बाद विरोध करने का जोखिम नहीं लेगी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement