नीतीश ने तेजस्वी यादव पर क्यों कहा, "मेरे भाई समान दोस्त का बेटा है इसलिए सुनते रहते हैं..."

फिर नीतीश ने आवेश में लालू यादव का नाम लिए बिना कहा, "इसके पिता को किसने बनवाया था लोक दल विधायक दल का नेता पता हैं? फिर इसको उप मुख्यमंत्री किसने बनाया था? ..."

पटना:

Nitish Kumar On Tejashwi Yadav : बिहार विधान सभा में पहली बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) शुक्रवार को रोद्र रूप में दिखे . विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) द्वारा लगाए गए आरोपों पर बोलते हुए नीतीश ने यहां तक कह डाला कि मेरे भाई समान दोस्त का बेटा हैं इसलिए सुनते रहे हैं. नीतीश पर तेजस्वी ने हत्या के एक मामले में आरोपी होने का स्टैम्प लगाया था, जबकि वो इस मामले में बरी हो चुके हैं . 

नीतीश बीच बहस के दौरान तेजस्वी द्वारा लगाए गए आरोपों पर संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी द्वारा वस्तुस्थिति रखने के बाद फिर से दोहराने पर उठ खड़ हुए और कहा, "ये बकवास बोल रहा है अगर इसके आरोपों में दम हैं तो इसके ख़िलाफ़ जांच करवाइये और कारवाई होगी. ये झूठ बोल रहा हैं फिर नीतीश ने कहा कि मेरे भाई समान दोस्त का बेटा हैं इसलिए सुनते रहते हैं हम नहीं कुछ बोलते हैं." 

यह भी पढ़ें- क्या नीतीश कुमार अपने मंत्रिमंडल सहयोगी अशोक चौधरी को बचा रहे हैं ?

फिर नीतीश ने आवेश में लालू यादव का नाम लिए बिना कहा, "इसके पिता को किसने बनवाया था लोक दल विधायक दल का नेता पता हैं? फिर इसको उप मुख्यमंत्री किसने बनाया था? आरोप लगा तो कहां सफ़ाई दी? जब सफ़ाई नहीं दी तो हमने छोड़ दिया. "

नीतीश ने आगे अपने बारे में लगाये गये आरोपों पर कहा, "कोर्ट का फ़ैसला हैं और हम बर्दाश्त करते रहते हैं कुछ नहीं बोलते हैं ." उसके बाद उन्होंने कहा कि क्यों नहीं एक्सप्लेन किया आज चार्जशीटेड हैं. 

यह भी पढ़ें- 'नीतीश कुमार ने बेटी होने के डर से दूसरा बच्चा पैदा नहीं किया', भरी विधानसभा में तेजस्वी यादव का बड़ा आरोप

इससे पहले तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार हत्या के मामले में भी आरोपी हैं. उन्होंने कॉपी राइट उल्लंघन के एक मामले में 25 हजार रुपये जुर्माना भरने का भी आरोप लगाया. नेता विपक्ष के आरोप पर संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि मर्डर केस को पटना हाईकोर्ट पहले ही खारिज कर चुकी है और  कोर्ट इन आरोपों पर कड़ी टिप्पणी कर चुकी है. इसके बाद उन्होंने विधान सभा अध्यक्ष से निवेदन किया कि सदन की कार्यवाही से इन आरोपों को बाहर कर दिया जाय.
 


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com