करुणानिधि के अंतिम संस्कार में मुख्यमंत्री व उनकी पूरी कैबिनेट को होना चाहिए था शामिल: रजनीकांत 

अभिनेता ने कहा कि अगर सरकार मरीना बीच पर द्रमुक नेता को दफन करने के लिए जगह देने के मद्रास उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ अपील करती तो वह विरोध छेड़ देते.

करुणानिधि के अंतिम संस्कार में मुख्यमंत्री व उनकी पूरी कैबिनेट को होना चाहिए था शामिल: रजनीकांत 

रजनीकांत ने तमिलनाडु के सीएम पर किया हमला

नई दिल्ली:

अभिनेता रजनीकांत ने सोमवार को कहा कि मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी और उनकी पूरी कैबिनेट को पिछले हफ्ते मरीना बीच पर हुए पूर्व मुख्यमंत्री करुणानिधि के अंतिम संस्कार में शामिल होना चाहिए था.अभिनेता ने कहा कि अगर सरकार मरीना बीच पर द्रमुक नेता को दफन करने के लिए जगह देने के मद्रास उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ अपील करती तो वह विरोध छेड़ देते. उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा कि करुणानिधि को दफनाये जाते समय राज्यपाल, कई मुख्यमंत्री और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आये थे. मुख्यमंत्री को नहीं आना चाहिए था? क्या पूरी कैबिनेट को नहीं आना चाहिए था? जनता क्या सोचेगी? क्या आप एमजीआर या जयललिता हैं.

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी ने अस्पताल में DMK चीफ करुणानिधि से मुलाकात की

एमजीआर और जयललिता को करुणानिधि का विरोधी माना जाता था. गौरतलब है कि पिछले हफ्ते पूर्व मुख्यमंत्री करुणानिधि का निधन हो गया था. 5 बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे एम करुणानिधि को तबीयत बिगड़ने के बाद 28 जुलाई को चेन्नई के कावेरी कावेरी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. शाम 6 बजकर 10 मिनट पर करुणानिधि का निधन हुआ. अस्पताल के कार्यकारी निदेशक डॉक्टर अरविन्दन सेल्वाराज की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, 'हमें बड़े दुख के साथ बताना पड़ रहा है कि हमारे प्रिय कलैंग्नर एम.करुणानिधि का सात अगस्त, 2018 को शाम छह बजकर दस मिनट पर निधन हो गया.

VIDEO: करुणानिधि के बाद कौन संभालेगा विरासत.

डॉक्टरों और नर्सों की हमारी टीम के सर्वश्रेष्ठ प्रयासों के बावजूद उन्हें बचाया नहीं जा सका.' विज्ञप्ति के अनुसार, 'हम भारत के कद्दावर नेताओं में से एक के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हैं और परिवार के सदस्यों तथा दुनिया भर में बसे तमिलवासियों का दुख साझा करते हैं.' (इनपुट भाषा से) 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com