NDTV Khabar

लाख टके का सवाल, लालू यादव आजकल CBI की इतनी तारीफ क्यों करते हैं? क्या वजह 'खैनी' तो नहीं

सीबीआई अधिकारियों का कहना है कि लालू यादव ने खाना खाने के बाद या खैनी खाने के बाद अधिकांश सवालों का जवाब गोलमोल दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लाख टके का सवाल, लालू यादव आजकल CBI की इतनी तारीफ क्यों करते हैं? क्या वजह 'खैनी' तो नहीं

लालू यादव आजकल सीबीआई की इतनी तारीफ क्यों करते हैं?

खास बातें

  1. सीबीआई मुख्यालय में लालू यादव को परोसा गया- दाल-भात और चोखा
  2. खैनी की तलब लगने पर लालू की गाड़ी से खैनी मंगाई गई
  3. हालांकि खैनी खाने के बाद लालू यादव ने सभी सवालों का जवाब गोलमोल दिया
पटना: राजद अध्यक्ष लालू यादव कई हफ्तों तक बाहर रहने के बाद पटना लौट आए हैं. वह आजकल अपने हर मिलने वाले के सामने सीबीआई के अधिकारियों की तारीफ़ करना नहीं भूलते. लालू के अनुसार- जब एजेंसी के मुख्यालय पर उनके साथ पूछताछ चल रही थी तब लंच के समय उनका पसंदीदा भोजन भात, दाल और आलू का चोखा खिलाया गया, लेकिन जब उन्हें खैनी की तलब हुई तब उन्होंने कहा कि अब जवाब नहीं दे सकते तब सीबीआई अधिकारी बाहर खड़ी उनकी कार से खैनी का डिब्बा ले आए.

फिलहाल तेजस्वी यादव अपने बंगले में ही रह सकते हैं, जानें नीतीश कुमार से क्यों है इस मुद्दे पर लड़ाई

टिप्पणियां
हालांकि सीबीआई अधिकारियों का कहना है कि लालू यादव ने खाना खाने के बाद या खैनी खाने के बाद अधिकांश सवालों का जवाब गोलमोल दिया. कई सवालों का जवाब वह यह कहकर टाल गए कि अब ये पुरानी बात है और उन्हें याद नहीं. कुछ सवालों का जवाब उन्होंने लिखित देने का वादा भी किया.

लालू का यूपी सरकार पर वार, कहा- भाजपा 'ताज' की बात करे, तुम 'कामकाज' की बात करना
 
लालू यादव से यह पूछताछ रेलवे के पुरी और रांची में दो होटल के बदले सस्ते दाम पर पटना में तीन एकड़ जमीन लेने का मामला है. हालांकि लालू ने जांच एजेंसी के अधिकारियों के सामने अपने कार्यकाल में रेलवे को कैसे मुनाफ़ा हुआ, उसकी पूरी कहानी ज़रूर सुनाई.
 
फिलहाल इस मामले में तेजस्वी यादव से भी पूछताछ हुई है और इस घोटाले की जांच आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय भी कर रहा है. माना जा रहा हैं कि इस मामले में सीबीआई जल्द इन लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगी. सीबीआई ने लालू यादव के पटना स्थित घर पर जुलाई में छापा भी मारा था.
गौरतलब है कि नीतीश कुमार के साथ महागठबंधन टूटने के पीछे इस घोटाले को एक मुख्य कारण माना जाता है.  नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव को सार्वजनिक रूप से सफ़ाई देने के लिए कहा था. लालू यादव का कहना है कि तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार से कहा था ‘ चाचा आप ही बता दीजिए या लिखवा दीजिए और मैं जाके बोल दूंगा."


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement