NDTV Khabar

फतवा जारी करने वाले धर्मगुरुओं को भजन गाने वाली मुस्लिम किशोरी का जवाब 'संगीत नहीं छोड़ूंगी'

1.2K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. असम की मुस्लिम गायिका आफरीन के खिलाफ फतवा जारी किया गया
  2. आफरीन ने कहा है कि वह गाना नहीं छोड़ने वाली हैं
  3. उनके गाए भजन असम में काफी लोकप्रिय हैं
गुवाहाटी: असम में एक मुसलमान किशोरी गायिका को सरकार ने तब सुरक्षा की गारंटी देनी पड़ी जब करीब 50 मुस्लिम धार्मिक नेताओं ने लड़की के खिलाफ फतवा जारी कर दिया. नाहिद आफरीन को दो साल पहले एक टैलेंट शो से गायकी में शोहरत हासिल हुई थी लेकिन धर्म गुरु इस किशोरी को सार्वजनिक मंच पर गाने से रोक रहे हैं. गौरतलब है कि आफरीन ने लोकप्रिय रिएलटी शो इंडियन आयडल में अपनी गायिकी से नाम कमाया था. सोनाक्षी सिन्हा की फिल्म 'अकीरा' में उन्होंने एक गाना गया है, साथ ही उनके गाये भजनों की वजह से भी उन्हें असम में खासी लोकप्रियता हासिल हुई थी.

राज्य में बीजेपी सरकार की अगुवाई करने वाले मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कहा है कि 'प्रतिभाशाली गायिका नाहिद आफरीन को सार्वजनिक मंच पर गाने से रोकने वाली संस्थाओं के इस कदम की हम निंदा करते हैं.' ट्विटर पर ही सोनोवाल ने यह भी लिखा है कि 'नाहिद से बात की है और हमने कलाकारों को सुरक्षा मुहैया करने के अपने वादे को दोहराया है.'

नाहिद ने कहा है कि 'पहली बार फतवे के बारे में सुनकर धक्का लगा लेकिन फिर मुझे कई मुसलमान गायकों से प्रेरणा मिली जिसके बाद मैंने तय किया कि मैं संगीत को कभी नहीं छोड़ूंगी.' अंग्रेज़ी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक पुलिस इस बात की जांच में लगी है कि क्या नाहिद के खिलाफ फतवा इसलिए जारी किया गया है क्योंकि उन्होंने आंतकवाद और ISIS के खिलाफ गीत गाए हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement