बर्फबारी से फिर सर्द हवाओं का दौर शुरू

खास बातें

  • बर्फबारी के कारण फिर से सर्द हवाओं का दौर लौट आया है। पहाड़ी इलाकों में हिमपात के बाद तापमान में आई गिरावट से लोग ठिठुरते हुए नजर आए।
नई दिल्ली:

उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में हुई बर्फबारी के कारण फिर से सर्द हवाओं का दौर लौट आया है। पहाड़ी इलाकों में हिमपात के बाद तापमान में आई गिरावट से लोग ठिठुरते हुए नजर आए। इस बीच भारी बर्फबारी के कारण दो दिनों तक बंद रहने के बाद जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग रविवार को एक तरफ से यातायात के लिए खोल दिया गया। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में रविवार सुबह धूप खिली लेकिन तेज सर्द हवाओं के कारण ठिठुरन बढ़ गई। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के एक अधिकारी ने बताया, "दिल्ली में रविवार को न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम नौ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।" उत्तर प्रदेश में ताजनगरी आगरा में कुछ दिन धूप खिलने के बाद रविवार को फिर से सर्द हवाओं का दौर शुरू हो गया। यहां का न्यूनतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया,"आगरा में रविवार को अधिकतम तापमान 23.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जबकि न्यूनतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया।" पंजाब, हरियाणा और चण्डीगढ़ में रविवार को धूप खिली लेकिन सर्द हवाओं के कारण तापमान में कमी दर्ज की गई। मौसम विभाग के अनुसार इस इलाके में पंजाब का अमृतसर शहर रविवार को सबसे सर्द रहा, जहां तापमान 0.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पटियाला और लुधियाना में न्यूनतम तापमान क्रमश: 6.3 और 3.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। चण्डीगढ़ में रविवार को न्यूनतम तापमान 4.7 डिग्री सेल्सियस रहा, जो शनिवार को 12.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि हरियाणा के अम्बाला, हिसार और करनाल शहरों में न्यूनतम तापमान क्रमश: 7.3, 4.4 और आठ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कश्मीर घाटी में रविवार को तापमान में फिर से कमी दर्ज की गई। पहलगाम में पारा लुढ़कर शून्य से 16.1 डिग्री सेल्सियस नीचे पहुंच गया, जो राज्य का सबसे सर्द स्थान रहा। श्रीनगर में नलों में पानी जम गया। भारी बर्फबारी के कारण दो दिनों तक बंद रहने के बाद जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग रविवार को एक तरफ से यातायात के लिए खोल दिया गया। जम्मू एवं कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 3.7 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा, जो सामान्य से दो डिग्री कम है जबकि गुलमार्ग में यह शून्य से 14.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। उन्होंने बताया, "लद्दाख क्षेत्र के लेह में न्यूनतम तापमान शून्य से आठ डिग्री सेल्सियस नीचे रहा और कारगिल में यह शून्य से 13.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। जम्मू में न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से चार डिग्री कम है।" हिमपात और बारिश के एक दिन बाद रविवार को हिमाचल प्रदेश के अधिकतर हिस्सों में तेज सर्द हवाओं का असर रहा। राजधानी शिमला में तापमान शून्य से 3.3 डिग्री सेल्सियस नीचे पहुंच गया। मध्य प्रदेश में सर्द हवाओं का असर एक बार फिर बढ़ गया है और इसी के चलते न्यूनतम तापमान पांच डिग्री सेल्सियस से नीचे पहुंच गया है। मौसम विभाग के क्षेत्रीय कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक उत्तरी हवाओं का जोर बढ़ने के साथ तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। हवाओं का रुख बदलने के कारण न्यूनतम तापमान में गिरावट आई है।  प्रदेश में सबसे सर्द जगह गुना रहा जहां का न्यूनतम तापमान 3.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com