दुर्लभ मामलाः 20वीं बार बच्चे को जन्म देगी महिला, पहली बार अस्पताल में होगी उसकी डिलीवरी

अब तक उसके 16 सफल प्रसव रहे हैं जबकि तीन गर्भपात हो गए. ये गर्भपात गर्भ ठहरने के तीन महीने के बाद हुए. डॉक्टरों के अनुसार उसकी ग्यारह संतानें हैं. उसके बाकी पांच बच्चे प्रसव के कुछ घंटे या कुछ दिनों के अंदर मर गए.

दुर्लभ मामलाः 20वीं बार बच्चे को जन्म देगी महिला, पहली बार अस्पताल में होगी उसकी डिलीवरी

इस बार बच्चे की डिलीवरी अस्पताल में होगी

मुम्बई:

एक तरह की दुर्लभ घटना के तहत महाराष्ट्र की एक महिला ने 20वीं बार गर्भधारण किया है. डॉक्टरों ने सोमवार को यह जानकारी दी. डॉक्टरों ने बताया कि बीड जिले की 38 वर्षीय यह महिला सात माह की गर्भवती है. अब तक उसके 16 सफल प्रसव रहे हैं जबकि तीन गर्भपात हो गए. ये गर्भपात गर्भ ठहरने के तीन महीने के बाद हुए. डॉक्टरों के अनुसार उसकी ग्यारह संतानें हैं. उसके बाकी पांच बच्चे प्रसव के कुछ घंटे या कुछ दिनों के अंदर मर गए. खानाबदोश गोपाल समुदाय से आने वाली लंकाबाई खराट को स्थानीय अधिकारियों ने देखा, जो उसके 20वें गर्भधारण के बारे में जानकर हैरान थे. बीड जिला के सिविल सर्जन डॉ. अशोक थोराट ने बताया, 'इस वक्त उसके 11 बच्चे हैं और 38 साल की उम्र में वह 20वीं बार मां बनने वाली है.'

'बच्चों को नियमित स्तनपान कराने से जल्दी गर्भधारण की संभावना कम'

अन्य डॉक्टर ने बताया कि जब हमें उसके गर्भावस्था का पता चला तो उसे सरकारी अस्पताल लाया गया और सभी जरूरी जांच की गई. वह 20वीं बार गर्भवती हुई है. जच्चा और बच्चा अब तक स्वस्थ हैं. उसे दवाइयां दी गई हैं और संक्रमण से बचने के लिए स्वच्छता और अन्य बातों की सलाह दी गई है. थोराट ने कहा, 'पहली बार वह अस्पताल में बच्चे को जन्म देगी. इससे पहले उसने घर पर ही बच्चे को जन्म दिया था. किसी भी खतरे से बचने के लिए हमने उसे स्थानीय सरकारी अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी है.'

इस सस्ती तकनीक से दूर हो रहा है महिलाओं का बांझपन, गर्भधारण करने में मिल रही है सफलता

खराट बीड जिले के मजलगांव तहसील में केसापुरी इलाके की रहने वाली है. बीड जिला कलेक्टरेट से एक अधिकारी ने बताया, 'वह गोपाल समुदाय से संबंधित है जो आमतौर पर भीख मांगने या मजदूरी अथवा छोटे-मोटे काम करते हैं. वे एक जगह से दूसरी जगह पर जाते रहते हैं.' 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com