Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

योगी आदित्यनाथ ने शाहीन बाग की प्रदर्शनकारियों पर की टिप्पणी तो महिलाओं ने किया पलटवार, कहा - तो फिर आप ही...

सीएम योगी आदित्यनाथ ने शाहीन बाग के प्रदर्शन को लेकर लखनऊ में एक सभा में कहा कि शाहीन बाग में पुरुषों ने घर की महिलाओं को आगे कर दिया है. और ये महिलाएं इतनी ठंड में भी बच्चे लेकर रोड पर बैठीं हैं, जबकि उनके पति घर में रजाई के अंदर सो रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. शाहीन बाग में प्रदर्श कर रही महिलाओं ने कहा योगी जी खुद ही बता दें कानून
  2. सीएम योगी पर प्रदर्शनकारी महिलाओं का हमला
  3. सीएम योगी ने शाहीन बाग प्रदर्शन को लेकर की थी टिप्पणी
नई दिल्ली:

नागरिकता कानून के खिलाफ शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर पलटवार किया है. प्रदर्शन पर बैठी महिलाओं ने कहा कि अगर सीएम को ही सीएए कानून समझ में आ गया है तो फिर वह ही हमें क्यों नहीं आकर समझा देते हैं.ध्यान हो कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने शाहीन बाग के प्रदर्शन को लेकर लखनऊ में एक सभा में कहा कि शाहीन बाग में पुरुषों ने घर की महिलाओं को आगे कर दिया है. और ये महिलाएं इतनी ठंड में भी बच्चे लेकर रोड पर बैठीं हैं, जबकि उनके पति घर में रजाई के अंदर सो रहे हैं. उन्होंने कहा कि मैं आपको यह बताना चाहता हूं कि जो महिलाएं सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं उन्हें कानून की जानकारी तक नहीं है. 

उद्धव ठाकरे ने CAA के खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव लाने का नहीं दिया कोई आश्वासन


बता दें कि बुधवार को कहा कि प्रदर्शन के नाम पर हिंसा को बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि और अब तो इन लोगों में इतनी भी हिम्मत नहीं रही कि यह लोग स्वयं आंदोलन करने की स्थिति में हो क्योंकि इन्हें मालूम है कि अगर यह तोड़फोड़ करेंगे तो इनकी संपत्ति जब्त कर ली जाएगी. अपने घर की महिलाओं को चौराहे चौराहे पर बिठाना प्रारंभ कर दिया है, बच्चों को बिठाना प्रारंभ कर दिया है. इतना बड़ा अपराध कि पुरूष घर में सो रहा है रजाई ओढ़कर और महिलाओं को आगे करके चौराहे-चौराहे पर बिठाया जा रहा है.

योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर साधा निशाना, बोले- पैसा लेकर आगजनी की घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा

उन्होंने कांग्रेस, सपा और वामपंथी दलों पर आरोप लगाया कि विपक्षी दल महज राजनीति कर रहे हैं और विरोध के लिए अलग-अलग हथकंडे अपनाये जा रहे हैं. विरोध के नाम पर महिलाओं को आगे किया जा रहा है. उन्होंने कहा, ''आप जाके पूछे उनसे किसी से भी कि धरने पर क्यों बैठे है तो कहते हैं कि घर के मर्द कहते है कि हम इतने अक्षम हो चुके हैं कि कुछ कर सकें इसलिये तुम धरने पर जाकर बैठ जाओ. इनके लिये देश महत्वपूर्ण नहीं है.''

योगी आदित्यनाथ की सीएए प्रदर्शनकारियों को चेतावनी, 'आज़ादी' के नारे लगाना देशद्रोह माना जाएगा

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मैं फिर इस मंच से कहूंगा कि लोकतंत्र में धरना प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से ज्ञापन देना सब का अधिकार है. लेकिन, कोई सार्वजनिक संपत्ति को, व्यापारिक प्रतिष्ठानों को जलायेगा, तोड़फोड़ करेगा तो हम उसकी संपत्ति से वसूली करके ले लेंगे और आगे के लिए हम उनको वह सजा देंगे कि आने वाली पीढ़ी उन्हें याद करेगी कि कैसे कार्य होते हैं. सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की कीमत क्या होती है इसके बारे में उनको 10 बार सोचना पड़ेगा.''

टिप्पणियां

उत्तर प्रदेश: CAA को लेकर भ्रम दूर करने के लिए पर्चे बांटने का अभियान

उन्होंने कहा कि भारत की धरती पर खास करके उत्तर प्रदेश की धरती पर मैं यह कहूंगा की धरना प्रदर्शन के नाम पर कश्मीर में जो नारे कभी आजादी के लगते थे अगर इस प्रकार के नारे लगाने का कार्य करोगे तो देशद्रोह की श्रेणी में आएगा. फिर इस पर कठोर कार्रवाई करने का कार्य सरकार करेगी. यह स्वीकार नहीं हो सकता है कि भारत की धरती पर रह कर भारत के खिलाफ षड्यंत्र करने की छूट हो.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... जन्म के बाद डॉक्टर कर रहे थे रुलाने की कोशिश, जैसे ही मारा तो गुस्से से देखने लगी बच्ची, Photos हुईं वायरल

Advertisement