महिलाओं की सामाजिक परिवर्तन में बड़ी भूमिका : लोकसभा अध्यक्ष

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से फिक्की लेडीज ऑर्गनाइजेशन के वार्षिक सत्र को संबोधित किया

महिलाओं की सामाजिक परिवर्तन में बड़ी भूमिका : लोकसभा अध्यक्ष

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला.

नई दिल्ली:

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने आज नई दिल्ली में अपने निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से फिक्की लेडीज ऑर्गनाइजेशन (फिक्की-एफएलओ) के वार्षिक सत्र को संबोधित किया. इस अवसर पर लोकसभा अध्यक्ष  ने कहा कि 'पावर टू एंपॉवर' का FLO का नारा COVID 19 की चुनौती को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए देश के संकल्प का एक उपयुक्त पर्याय है.

ओम बिरला ने कहा कि इस कठिन समय में भारत ने उल्लेखनीय शक्ति दिखाई है और इस महामारी से प्रभावी ढंग से निपटने में सक्षम रहा है. श्री बिरला ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में, राष्ट्र समय पर कार्रवाई करने और लोगों की जान बचाने में सक्षम रहा. हालांकि, उन्होंने महसूस किया कि COVID के खिलाफ युद्ध अभी खत्म नहीं हुआ है और निरंतर सामूहिक कार्रवाई के साथ हम इस बीमारी को हराने में सक्षम होंगे.

एफएलओ के बारे में बिरला ने कहा कि इस संगठन ने उद्यम और उद्यमिता के माध्यम से महिला सशक्तीकरण के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य किया है. उन्होंने इस तथ्य की सराहना की कि महिला सशक्तिकरण के माध्यम से एफएलओ ने व्यापक परिवर्तन और सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए आगे का रास्ता दिखाया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दुनिया में डिजिटल तकनीक के महत्व को रेखांकित करते हुए बिरला ने कहा कि डिजिटल तकनीक की मदद से हम दुनिया में विकास और प्रगति हासिल कर सकते हैं. उन्होंने आगे कहा, "सामाजिक परिवर्तन लाने में महिलाओं की बहुत बड़ी भूमिका है".

बिरला ने कहा कि महिलाओं में असाधारण सहनशीलता और आंतरिक शक्ति होती है और परिवार और राष्ट्र की भलाई के लिए उनका समर्पण अपार है. उन्होंने महिला उद्यमिता को प्रोत्साहित करने के लिए फिक्की एफएलओ को बधाई दी और कहा कि महिला सशक्तिकरण के कारण और ज़रिये राष्ट्रीय विकास के लिए उनका योगदान प्रशंसनीय है.