Lockdown के बाद मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस के बाहर फंसे मजदूर, RPF और पुलिस ने की पिटाई

प्रधानमंत्री के एलान पर बुधवार से देश भर में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. अचानक हुए इस लॉकडाउन से देश भर में गरीबों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

खास बातें

  • लॉकडाउन के बाद संकट में फंसे मजदूर
  • RPF और पुलिस ने की पिटाई
  • मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस के बाहर फंसे मजदूर
मुंबई:

प्रधानमंत्री के एलान पर बुधवार से देश भर में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. अचानक हुए इस लॉकडाउन से देश भर में गरीबों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. ऐसी ही हालत है मुम्बई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस के पास सैंकड़ों मजदूरों की जों मुम्बई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस के पास फंसे हुए हैं. उन्हें उम्मीद कर रहे हैं कि ट्रेन शुरू होते ही अपने घर चले जायें, उनके पास न पैसा है और न ही खाना.. ऊपर से पुलिस और आरपीएफ इन लोगों को मार रही है. शुक्रवार दोपहर तक मुम्बई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस के बाहर यह मजदूर रुके हुए हैं..उम्मीद है या तो ट्रेन शुरू हो जाए ताकि वो अपने घर जाएं, या फिर कोई खाना दे जाए.

हालांकि कुछ समय बाद कुछ लोग खाना लेकर उनके पास पहुंचते हैं, लेकिन यह लोग प्रशासन की और से नहीं बल्कि स्थानीय लोग हैं जो निजी तौर पर यह खाना दे रहे हैं. स्टेशन के पास फंसे अधिकांश लोग रेलवे के ही कैंटीन में काम करते थे और वहीं सो जाते थे. लेकिम ट्रेन बंद हो जाने के बाद स्टेशन से इन्हें आरपीएफ ने मार कर भगा दिया और बाहर इन्हें पुलिस मारती है. कुछ लोग अब स्टेशन छोड़ ब्रिज के ऊपर रुके हुए हैं.. क्योंकि स्टेशन पर इनके पैसों और दूसरे सामान को लोगों ने चुरा लिया.
मुसीबत में पड़े यह मजदूर जिस कैंटीन में काम करते थे, उसके मालिकों ने इनसे संपर्क करना छोड़ दिया है. अब इन मजदूरों का बस एक ही इच्छा है कि कैसे भी अपने गांव पहुंच जाए जहां वो अपनी जिंदगी काट लेंगे. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com