NDTV Khabar

मोदी सरकार देश के सभी क्षेत्रों के श्रमिकों को देगी विशिष्ट पहचान संख्या

देश के संगठित और असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को विशिष्ट पहचान संख्या आवंटित की जाएगी. इससे उन्हें विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के मामले में काफी लाभ मिलेगा.

6 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मोदी सरकार देश के सभी क्षेत्रों के श्रमिकों को देगी विशिष्ट पहचान संख्या

संतोष गंगवार की फाइल तस्वीर

बरेली: देश के संगठित और असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को विशिष्ट पहचान संख्या आवंटित की जाएगी. इससे उन्हें विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के मामले में काफी लाभ मिलेगा. केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने यह घोषणा की है. उन्होंने बताया कि केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय देश भर में विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत 40 करोड़ से ज्यादा असंगठित श्रमिकों के हितों की रक्षा करने के लिए उन्हें सामाजिक सुरक्षा के दायरे में लाने की तैयारी कर रहा है. गंगवार ने श्रम कानूनों में सुधार किए जाने का आश्वासन भी दिया.

यह भी पढ़ें : फिंगर प्रिंट की क्लोनिंग कर फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 10 अरेस्ट

राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण संगठन (एनएसएसओ) के 2009-10 के सर्वेक्षण के मुताबिक असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों की संख्या देश में कुल श्रमिकों की संख्या के 93 फीसदी से ज्यादा है. उन्होंने कहा कि श्रम कानूनों में सुधार की प्रक्रिया को तेज करने तथा मजदूर संगठनों के साथ बेहतर तालमेल एवं सहमति बनाने के लिए देश के मान्यता प्राप्त श्रमिक संगठनों को 14 सितंबर को दिल्ली बुलाया गया है. उन्होंने कहा कि 44 श्रम कानूनों में से प्रासंगिता खो चुके चार कानूनों को समाप्त कर दिया गया है.  बाकी 40 कानूनों में से 36 कानूनों को समाप्त करने पर कार्य शुरू हो गया है. सरकार देश में मात्र चार श्रम कानून रखेगी.

VIDEO : आधार को सरकारी योजनाओं से जोड़ने की मियाद बढ़ी
गंगवार ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है. इस परिवर्तन के जरिये ही जून और जुलाई माह में देश की आर्थिक आजादी की नींव माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के माध्यम से रखी गई.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement