NDTV Khabar

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दुनिया ने हमारी ताकत को माना : पीएम नरेंद्र मोदी

आज देश की 70वीं आजादी की वर्षगांठ के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पूरी दुनिया ने भारत का लोहा माना.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दुनिया ने हमारी ताकत को माना : पीएम नरेंद्र मोदी

राष्ट्र को संबोधित करते पीएम मोदी.

खास बातें

  1. पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को किया संबोधित
  2. देश मना रहा है आजादी की 70वीं वर्षगांठ
  3. सर्जिकल स्ट्राइक पर पीएम ने कहा यूनिफॉर्म फोर्स ने कर्तव्य निभाया
नई दिल्ली:

पिछले साल 28-29 सितंबर की रात भारतीय सेना के जवानों में पीओके में चल रहे आतंकी कैंपों पर अचानक सर्जिकल स्ट्राइक की और कई आतंकियों को मार गिराया. भारतीय सेना के कमांडो की इस कार्रवाई के बारे में दुनिया की किसी भी खुफिया एजेंसी को भनक तक नहीं लगी और पूरी दुनिया भारत  की इस कार्रवाई के साथ दिखी.  भारतीय कमांडो की इस कामयाब कार्रवाई की पाकिस्तान ने कभी कोई उम्मीद नहीं की थी. सेना की इस कार्रवाई में पाकिस्तान में चल रहे आतंकी कैंपों और आतंकियों के आकाओं के पैरों तले से जमीन हिला दी थी.  

टिप्पणियां

आज देश की 70वीं आजादी की वर्षगांठ के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पूरी दुनिया ने भारत का लोहा माना. पीएम मोदी ने कहा कि आजाद भारत में देश की सुरक्षा स्वाभाविक बात है. उन्होंने कहा कि हर यूनिफॉर्म फोर्स ने हर जरूरी मौके पर अपना कर्तव्य निभाया है. उन्होंने कहा कि आतंकवाद हो या नक्सलवाद इन वर्दिधारियों ने बलिदान दिया. जब सर्जिकल स्ट्राइक हुई दुनिया ने हमारे लोगों की ताकत को माना, हमारा लोहा माना. उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है. सागर हो या स्पेश हो हमारी सुरक्षा प्राथमिकता है.
VIDEO : देश के नाम पीएम मोदी का संबोधन

बता दें कि सर्जिकल स्ट्राइक के चार हीरो को तीनों सेनाओं के सुप्रीम कमांडर और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शौर्य चक्र से सम्मानित किया था. मेजर रजत चन्द्र , मेजर दीपक कुमार उपाध्याय,कैप्टन आशुतोष कुमार और पैरा ट्रुपर अब्दुल क्यूम. 29 सितंबर 2016 की रात में इन्होंने सरहद पार कई आतंकी कैपों का सफाया किया. राष्ट्रपति भवन में हुए इस अलंकरण समारोह में उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत कई मंत्री भी मौजूद थे.
VIDEO : गृहमंत्री राजनाथ सिंह का बयान

मेजर रजत चन्द्र ने  पहले आतंकी ठिकाने को तबाह किया  फिर तीन आंतकियों को भी मार गिराया. ऐसे ही मेजर दीपक कुमार उपाध्याय ने सैनिकों को लीड किया, जिन्होंने ऑपरेशन को सही ढंग से अंजाम दिया. अपने किसी भी सैनिक के हताहत हुए बिना आतंकी कैंप को तबाह किया.कैप्टन आशुतोष कुमार ने अपनी निणार्यक सोच और सूझबूझ से चार आतंकियों को मार गिराया. साथ में यह भी सुनिश्चित किया कि ऑपरेशन के दौरान कोई आतंकी बचकर न निकले. पैराट्रूपर अब्दुल क्यूम न केवल स्काउट के रूप में सैनिकों को आतंकी ठिकाने तक ले गए बल्कि आतंकियों के बंकर और संतरी पोस्ट को बरबाद किया.  


क्लिक करें: आजादी@70 पर हमारी खास पेशकश.
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement