Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

वर्ल्ड बैंक का भारत को 6 अरब डॉलर सालाना का ऋण समर्थन जारी रहेगा

मालपास ने मीडिया से बातचीत में कहा, "वर्ल्ड बैंक के पास 24 अरब डॉलर की ऋण प्रतिबद्धता वाली 97 परियोजनाएं हैं. इसलिए हम उम्मीद करते हैं कि कार्यक्रम जारी रहे और भारत में चल रही परियोजनाओं और सुधारों को परिलक्षित करता रहे. यह सालाना 5-6 अरब डॉलर का हो सकता है." 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वर्ल्ड बैंक का भारत को 6 अरब डॉलर सालाना का ऋण समर्थन जारी रहेगा

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. वर्तमान में वर्ल्ड बैंक की मदद से देश में 97 परियोजनाएं चल रही हैं
  2. वर्ल्ड बैंक के पास 24 अरब डॉलर की ऋण प्रतिबद्धता वाली 97 परियोजनाएं हैं
  3. भारत में चल रही परियोजनाओं और सुधारों को परिलक्षित करता रहे
नई दिल्ली:

वर्ल्ड बैंक के अध्यक्ष डेविड मालपास ने शनिवार को कहा कि वर्ल्ड बैंक भारत को 6 अरब डॉलर सालाना लक्ष्य के अनुरूप ऋण समर्थन देना जारी रखेगा. वर्तमान में वर्ल्ड बैंक की मदद से देश में 97 परियोजनाएं चल रही हैं. मालपास ने मीडिया से बातचीत में कहा, "वर्ल्ड बैंक के पास 24 अरब डॉलर की ऋण प्रतिबद्धता वाली 97 परियोजनाएं हैं. इसलिए हम उम्मीद करते हैं कि कार्यक्रम जारी रहे और भारत में चल रही परियोजनाओं और सुधारों को परिलक्षित करता रहे. यह सालाना 5-6 अरब डॉलर का हो सकता है." 

भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर IMF का बड़ा बयान, कहा- बुनियादी चीजें तो ठीक है लेकिन...

टिप्पणियां

बता दें, वर्ल्ड बैंक के प्रमुख ने इससे पहले दिन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की. मालपास ने कहा कि प्रधानमंत्री के साथ बैठक में बुनियादी ढांचे के वित्तपोषण, वित्तीय क्षेत्र की मजबूती, क्षेत्रीय संपर्क योजना और नागरिक सेवाएं में सुधार समेत कई विषयों पर चर्चा हुई. उन्होंने कहा, "हमने जल और कौशल विकास को लेकर भी बात की. मैं इन विषयों पर प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण की सराहना करता हूं." 


VIDEO: मोदी सरकार का अर्थशास्त्र पास या फेल?



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... पैन, बैंक-भूमि से जुड़े दस्तावेजों से नहीं साबित होती है नागरिकता: गुवाहटी हाई कोर्ट

Advertisement