उद्धव ठाकरे ने मुझे 'नमक हराम' कहा : कंगना रनौत ने किया पलटवार

कंगना रनौत ने पिछले महीने मुख्यमंत्री पर एक वीडियो में उन्हें "तू" कहकर संबोधित किया था. इस बार भी कंगना ने वीडियो जारी किया है लेकिन इस बार उन्होंने सीएम उद्धव ठाकरे को 'तू' कि जगह तुम कहा है .

उद्धव ठाकरे ने मुझे 'नमक हराम' कहा :  कंगना रनौत ने किया पलटवार

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) और कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के बीच तीखी नोक-झोंक ने नया मोड़ ले लिया है. अभिनेत्री ने आज ट्वीट्स की एक श्रृंखला में मुख्यमंत्री पर निशाना साधा. रविवार को उद्धव ठाकरे ने कंगना रनौत का नाम लिए बिना "पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर कहकर मुंबई का दुरुपयोग करने वालों" पर हमला किया था. ठाकरे ने कहा, "जिन लोगों के घर में आजीविका का कोई साधन नहीं है, वे मुंबई आते हैं और इसके साथ विश्वासघात करते हैं. मुंबई पीओके को कहना वास्तव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विफलता है. उन्होंने (पीएम) कहा था कि वह पीओके को भारत में वापस लाएंगे." महाराष्ट्र से नफरत करने वालों ने राज्य को बदनाम करने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

जवाब में, कंगना रनौत ने मुख्यमंत्री को भाई-भतीजावाद का "बदतर उत्पाद" कहा. उन्होंने लिखा, "संजय राउत ने मुझे हरमखोर कहा था, अब उद्धव ठाकरे ने मुझे नामक-हराम (treacherous) कहा, वह दावा कर रहे हैं कि अगर मुंबई ने मुझे आश्रय नहीं दिया होता तो मुझे मेरे राज्य में खाने को नहीं मिलता, आपको शर्म आनी चाहिए, मैं आपके बेटे की उम्र का हूं आप इस तरह से एक खुद अपना मुकाम हासिल करने वाली महिला से बात करते हैं, मुख्यमंत्री... आप भाई-भतीजावाद के सबसे बदतर उत्पाद हैं."

कंगना ने आगे लिखा "मुख्यमंत्री मैं आप की तरह अपने पिता की शक्ति और धन के नशे में नहीं हूं, अगर मैं एक भाई भतीजावाद का उत्पाद बनना चाहती तो मैं हिमाचल में रह सकती थी. मैं एक प्रसिद्ध परिवार से हूं, मैं उनकी दौलत और एहसानों से दूर नहीं रहना चाहता थी, कुछ लोगों का स्वाभिमान और आत्म सम्मान है."

यह भी पढ़ें- कंगना रनौत भाई की शादी में कभी डांस तो कभी पत्तल पर खाना खाती दिखीं

कंगना रनौत ने पिछले महीने मुख्यमंत्री पर एक वीडियो में उन्हें "तु" कहकर संबोधित किया था. 33 वर्षीय मुखर अभिनेत्री ने ठाकरे की शिवसेना जो महाराष्ट्र सरकार का प्रमुख है और मुंबई नागरिक निकाय को नियंत्रित करती है को सुशांत सिंह राजपूत मामले पर शब्दों के युद्ध में निशाना बनाने का आरोप लगाया. उन्होंने मुंबई पुलिस द्वारा मामले को संभालने की  आलोचना की थी और कहा था कि वह शहर में सुरक्षित महसूस नहीं करती हैं.

शिवसेना तब उग्र हो गई जब कंगना ने मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) से कर दी थी. जब मुंबई नागरिक निकाय की एक विध्वंस टीम ने मुंबई में कंगना रनौत के कार्यालय के अवैध हिस्सों को गिराना शुरू कर दिया, तो उन्होंने शिवसेना पर प्रतिशोध का आरोप लगाया.

Newsbeep

ठाकरे के आलोचक रहे राज्य के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के साथ कंगना रनौत की मुलाकात ने मुख्यमंत्री को और भी झकझोर दिया.

"कंगना ने सब अपने दम पर किया, जब वो आई थी तब कौन सा नेपोटिज्म था"

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com