नौसेना के MiG-29K के मलबे से खुलासा, 'विमान से बाहर निकलने में सफल हो गया था लापता पायलट'

हादसे के चार दिन बाद नौसेना विशेषज्ञों ने रूस में निर्मित दो सीटों वाले इस फाइटर प्‍लेन का मलबा ढूंढ निकाला है.

नौसेना के MiG-29K के मलबे से खुलासा, 'विमान से बाहर निकलने में सफल हो गया था लापता पायलट'

MiG-29K पिछले सप्‍ताह गुरुवार को दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया था (प्रतीकात्‍मक फोटो)

नई दिल्‍ली:

अरब सागर में गुरुवार को दुर्घटनाग्रस्‍त हुए भारतीय नौसेना के MiG-29K का लापता पायलट, हादसेे के ठीक पहले, खुद को 'बाहर निकालने' (Eject) में सफल हुआ था. हादसे के चार दिन बाद नौसेना विशेषज्ञों ने रूस में निर्मित दो सीटों वाले इस फाइटर प्‍लेन का मलबा ढूंढ निकाला है. सूत्रों ने NDTV को बताया कि कमांडर निशांत सिंह (Commander Nishant Singh) की Ejection सीट दुर्घटनास्‍थल पर मौजूद नहीं थी. कमांडर निशांत, जेट विमान को कंट्रोल करने के लिए इंस्‍ट्रक्‍टर के तौर पर थे. हादसे में विमान का कमांडर लापता है जबकि सेकंड पायलट, एक ट्रेनी को बचा लिया गया था.

चीन से तनातनी ने बीच सरकार ने मिग, सुखोई समेत 33 लड़ाकू विमानों की खरीद को दी मंजूरी

गौरतलब है क‍ि MiG-29K रूस में निर्मित K-36D-3.5 इजेक्‍शन सीट (Ejection seat) से सुसज्जित है, इसे दुनिया के सबसे परिष्‍कृत प्‍लेन में ुशमार किया जाता है. विमान से बाहर निकलने के लिए इजेक्‍शन हैंडल को खींचा जाता है. इससे पीछे वाली सीट का पायलट पहले बाहर निकलता है और उसके बाद सामने वाली सीट का.सूत्र बताते हैं कि जब पायलट बाहर निकले तो फाइटर प्‍लेन काफी कम ऊंचाई पर थे. उन्‍होंने इसके साथ ही कहा कि ट्रेनी को एक दूसरे पैराशूट से एयरक्राफ्ट से बाहर निकलते देखा गया.हालांकि अभी यह स्‍पष्‍ट नहीं हो सका है कि मिग-29K का personal locator beacon पानी के संपर्क में आने के बाद सिगनल देने में क्‍यों नाकाम रहा?लापता पायलट के लिए सरकार ने गहन हवाई, तटीय और सरफेस तलाशी अभियान छेड़ रखा है. सूत्रों के अनुसार, गोताखोर विशेष उपकरणों की मदद से तलाशी के अभियान को अंजाम दे रहे हैं.

Newsbeep

हाल ही में विवाह रचाने वाले कमांडर सिंह ने मई में एक हंसी-मजाक से भरपूर पत्र में कमांडिंग ऑफिसर को अपने विवाह की जानकारी दी थी.हाल ही में विवाह रचाने वाले कमांडर सिंह ने मई में एक हंसी-मजाक से भरपूर पत्र में कमांडिंग ऑफिसर को अपने विवाह की जानकारी दी थी. कमांडर सिंह ने लिखा था, 'मुझे बेहद शॉर्ट नोटिस पर आपके ऊपर यह बम गिराने का अफसोस है. मैं अपने आप पर न्‍यूक्लियर बम गिराने का इरादा रखता हूं.' उन्‍होंने लिखा था, 'मेरी मंगेतर और मैं इस सामूहिक सहमति पर पहुंचे हैं कि हम एक-दूसरे को मारे बिना, अपरनी बची जिंदगी साथ गुजार सकते हैं. इस मामले में मैं आधिकारिक तौर पर आपकी मंजूरी चाहता हूं. 'उन्‍होंने यह भी बताया था कि विवाह, कोविड-19 महामारी के कारण लागू प्रतिबंधों के चलते Zoom वीडियो कॉल के जरिये संपन्‍न होगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि हादसे के वक्‍त ये ट्रेनर विमान अरब सागर के ऊपर फ्लाई कर रहा था. हादसे में एक पायलट को बचा लिया गया है, जबकि दूसरे पायलट की तलाश जारी है. नौसेना ने इस हादसे की जांच के आदेश दिए हैं.MiG 29 फाइटर जेट विमान रूस निर्मित लड़ाकू विमान हैं. इसकी लंबाई 17.32 मीटर होती है. यह विमान अधिकतम 18,000 किलोग्राम (44,100 पौंड) वजन लेकर उड़ान भर सकता है. इसकी ईंधन क्षमता 3,500 किलोग्राम (7,716 पौंड) है.