NDTV Khabar

शब्दों के गलत चयन से बड़ी खबर बन जाती है : अरविंद पनगढ़िया, नीति आयोग के उपाध्यक्ष

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शब्दों के गलत चयन से बड़ी खबर बन जाती है : अरविंद पनगढ़िया, नीति आयोग के उपाध्यक्ष

नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने आयोग के सदस्य बिबेक देवराय पर एक कार्यक्रम में कटाक्ष किया (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने आयोग के सदस्य बिबेक देवराय पर एक तरह से कटाक्ष करते हुए हुए कहा कि शब्दों के गलत चयन से कभी-कभी बड़ी खबर बन जाती है. देवराय ने इसी सप्ताह बयान दिया था कि कृषि आय पर कर लगाया जा सकता है. उनके इस बयान के बाद विवाद खड़ा हो गया था. पनगढ़िया ने यह बात देवराय के इस बयान के संदर्भ में ही कही है.

 पनगढ़िया ने यहां स्मार्ट शहरों पर कार्यशाला को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की. इस कार्यक्रम को सबसे पहले देवराय ने ही संबोधित किया. कार्यक्रम में शहरी विकास मंत्री एम. वेंकैया नायडू भी मौजूद थे. देवराय ने कहा,‘हम इस बात से काफी गौरवान्वित अनुभव कर रहे हैं कि हमारे केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू हैं.’ उन्होंने कहा, ‘जो लोग आस्ट्रेलिया से हैं वे संभवत: यह नहीं जानते कि नायडू कैसे क्षणभर में किसी बात के लिए कोई नया लघु-शब्द गढ़ लेते हैं.’

पनगढ़िया ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि नायडू जो लघु-शब्द गढ़ते हैं वे अर्थपूर्ण होते हैं. लेकिन भाषण में कुछ गलत शब्दों के चयन से बड़ी खबर बन जाती है.


टिप्पणियां

देवराय ने इसी सप्ताह एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि कृषि आय को कर के दायरे में लाया जा सकता है. उनके इस बयान से सरकारी हलके में हंगामा मच गया था. देवराय ने कहा था,‘व्यक्तिगत आयकर पर भी छूट समाप्त होनी चाहिए. व्यक्तिगत आयकर का दायरा बढ़ाने के लिए अलावा छूट को समाप्त करने के अतिरिक्त, ग्रामीण क्षेत्र पर भी कर लगना चाहिए. कृषि आय पर एक निश्चित सीमा के बाद कर लगना चाहिए.’ राजनीतिक दृष्टि से संवेदनशील उनके बयान के बाद वित्त मंत्री अरण जेटली ने मॉस्को से बयान जारी कर कहा था कि सरकार का कृषि आय पर कर लगाने का कोई इरादा नहीं है.
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement