बाबा रामदेव को शाहीन बाग जाने की नहीं मिली इजाजत, पतंजलि के प्रवक्ता ने दी जानकारी

योगगुरु बाबा रामदेव (Baba Ramdev) को शाहीन बाग (Shaheen Bagh) जाने की इजाजत नहीं मिली.

बाबा रामदेव को शाहीन बाग जाने की नहीं मिली इजाजत, पतंजलि के प्रवक्ता ने दी जानकारी

बाबा रामदेव को शाहीन बाग जाने की नहीं मिली इजाजत.

खास बातें

  • बाबा रामदेव को शाहीन बाग जाने की इजाजत नहीं
  • पुलिस ने बाबा रामदेव को पुलिस ने इजाजत नहीं दी
  • रामदेव शाहीन बाग़ जाने के लिए प्रतिबद्ध: पतंजलि
नई दिल्ली:

योगगुरु बाबा रामदेव (Baba Ramdev) को शाहीन बाग (Shaheen Bagh) जाने की इजाजत नहीं मिली. पुलिस ने बाबा रामदेव को शाहीन बाग में नागरिकता कानून के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन में जाने की इजाजत नहीं दी. पतंजलि के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने यह जानकारी दी. तिजारावाला ने कहा कि रामदेव शाहीन बाग जाने के लिए प्रतिबद्ध हैं.  जैसे ही योगगुरु को इजाजत मिलेगी वह वहां जाएंगे. बता दें कि NDTV के 'मुकाबला' कार्यक्रम के दौरान ट्विटर पर जब दर्शक ने उनसे पूछा कि क्या बाबा रामदेव शाहीन बाग में प्रदर्शन के लिए जाएंगे. क्या वह महिलाओं को समर्थन देंगे? क्या बाबा रामदेव के पास देश में शांति के लिए कोई मंत्र है? उन्होंने कहा कि मैं कल (शनिवार) शाहीन बाग जाऊंगा. वहां जाकर उनकी सुनुंगा और उनकी बातें करके पीएम मोदी और उनके लोगों को बताऊंगा. मैं किसी के पक्ष या विपक्ष (समर्थन या विरोध) में नहीं जा रहा हूं और न ही किसी का बिचौलिया हूं.

क्या शाहीन बाग में नागरिकता कानून के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन में शामिल होंगे बाबा रामदेव? योगगुरु ने दिया यह जवाब...

रामदेव ने कहा कि सड़क के ऊपर धरना प्रदर्शन ठीक नहीं है. जितना हिन्दू को रहने का अधिकार है उतना ही मुस्लिमों को भी इस देश में रहने का अधिकार है. योग गुरु ने कहा, उन्हें डर क्यों है? देश में काल्पनिक भय तैयार किया जा रहा है. रामदेव ने CAA के मुद्दे पर कहा, ''आजादी संविधान और न्याय पर आधारित होनी चाहिए. मुझे जिन्ना वाली आजादी नहीं चाहिए, महात्मा गांधी और भगत सिंह वाली आजादी चाहिए. पिछले एक-दो महीनों से लग रहा है कि हिन्दुस्तान में सभी प्रदर्शन करने में लगे हुए हैं. मैं आंदोलनों का पक्ष लेने वाला व्यक्ति हूं. आंदोलन करना लोगों का अधिकार है.''

CAA Protest पर बोले रामदेव- ये देश जितना BJP और मोदी का है, उतना ही विपक्ष का भी, ऐसे आंदोलन से विदेश में होती है बदनामी

उन्होंने CAA को लेकर पूछे गए सवाल पर आगे कहा, ''यह देश जितना BJP और नरेंद्र मोदी का है, उतना ही विपक्ष का भी, ऐसे आंदोलन से विदेश में देश की बदनामी होती है. शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन पर बाबा रामदेव ने कहा कि सड़क के ऊपर धरना प्रदर्शन ठीक नहीं है. जितना हिन्दू को रहने का अधिकार है उतना ही मुस्लिमों को भी इस देश में रहने का अधिकार है. योग गुरु ने कहा, उन्हें डर क्यों है? देश में काल्पनिक भय तैयार किया जा रहा है.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

CAA-NRC पर NDTV से बोले बाबा रामदेव- मुझे जिन्ना वाली नहीं, महात्मा गांधी और भगत सिंह वाली आजादी चाहिए

रोजगार से जुड़े मुद्दे पर बाबा रामदेव ने कहा, ''मैंने 2 लाख लोगों को रोजगार दिया, करीब 5 लाख किसान मेरे साथ जुड़े हैं, और 5 लाख लोगों को रोजगार देने की योजना अभी भी है. मेरी कोई लग्जरी लाइफ नहीं और कोई वाइफ नहीं.'' बाबा रामदेव ने कहा, ''यदि मैं इस देश में आर्थिक प्रगति कर रहा हूं तो इससे देश का ही हित है. इससे अर्थव्यवस्था में देश को मदद ही मिल रही है. हमने विदेशी ब्रांड के सामने देशी ब्रांड खड़ा करके अच्छा ही किया. मैं FDI का विरोधी था और रहूंगा. मैं किसी सरकार का एजेंट नहीं. देश का पैसा बाहर नहीं जाना चाहिए. अपना देश नेचुरल रिसोर्जेस से भरा पड़ा हुआ है, उसका दोहन नहीं होना चाहिए और भ्रष्टाचार या घोटाला नहीं होना चाहिए. आज जितनी हम अर्थव्यवस्था में बैठे हैं उससे 5 गुनी ज्यादा हो सकती है मात्र 10 सालों में. देश में बिजनेस की रिस्पेक्ट होनी चाहिए. अर्थव्यस्था पर में सरकार को प्रजेंटेशन को दूंगा.''