NDTV Khabar

योगी आदित्यनाथ सचिवालय में पान की पीक देखकर हुए नाराज, सरकारी दफ्तरों में पान-गुटखा खाने पर लगाया बैन

3.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
योगी आदित्यनाथ सचिवालय में पान की पीक देखकर हुए नाराज, सरकारी दफ्तरों में पान-गुटखा खाने पर लगाया बैन

योगी आदित्यनाथ ने लगाया सरकारी दफ्तरों में पान -गुटखा खाने पर बैन

लखनऊ: यूपी के सीएम आदित्यनाथ आज सचिवालय एनेक्सी पहुंचे. यहां वह पान की पीक देखकर नाराज हो गए. इतने नाराज कि उन्होंने सरकारी दफ्तरों में पान, पान मसाला व गुटखा खाने पर बैन लगा दिया. दरअसल सचिवालय एनेक्सी वह दफ्तर है जहां पूर्व सीएम अखिलेश यादव बैठा करते थे. योगी आदित्यनाथ उसके ठीक सामने लोकभवन की ब्लिडिंग में बैठेंगे. यह इमारत अभी नई बनी है. सचिवालय एनेक्सी में चीफ सेक्रेट्री और होम सेक्रेट्री समेत प्रशासन से जुड़े कई महत्वपूर्ण दफ्तर हैं. सुनने में आया है कि यहां योगी आदित्यनाथ ने पान-गुटखा खाने वाले लोगों को डांट भी लगाई.

इसके पहले योगी आदित्यनाथ ने लोकभवन के ऑडिटोरियम में सभी सीनियर ऑफिसर्स के साथ मीटिंग की थी और सफाई के लिए शपथ दिलाई थी. इस शपथ में यह शर्त भी शामिल थी शपथ लेने वाला हर अफसर 100 और लोगों को शपथ दिलाएगा और हर हफ्ते 2 घंटे सफाई के लिए श्रम दान करेगा. यहीं नहीं 2014 में पीएम बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने बनारस में अपनी पहली सभा में जो भाषण दिया था उसमें बनारस के लोगों से गंदगी नहीं करने और पान खाकर नहीं थूकने का वादा लिया था. (यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज कर सकते हैं अपने मंत्रियों के कामकाज का बंटवारा)

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पान मसाला, प्लास्टिक को सरकारी ऑफिसों में बंद करने का निर्देश दिया था. (राम मंदिर मुद्दे पर ज़फ़रयाब जिलानी से लेकर मायावती तक का बयान)

इससे पहले आज योगी ने बीजेपी के चुनावी वादे के हिसाब राज्य में हर शहर में एंटी रोमियो स्क्वॉड बनाने का आदेश दे दिया. पार्टी का आरोप रहा है कि राज्य में लड़कियों और महिलाओं की सुरक्षा को लेकर पिछली सरकारें उदासीन रही हैं. बीजेपी नेताओं ने चुनाव में आरोप लगाया था कि राज्य में मनचलों के चलते लड़कियों को कॉलेज आने जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता रहा है. कई बार ऐसी स्थिति में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सवाल उठता रहा है.

बता दें कि राज्य में बीजेपी की सरकार बनते ही कई शहरों में चल अवैध बूचड़खानों पर स्थानीय प्रशासन ने अपने आप कार्रवाई आरंभ कर दी है. कई अवैध बूचड़खानों सील कर दिया गया है. यह भूचड़खाने अवैध तरीके से अब तक चल रहे थे. वाराणसी से  लेकर लखीमपुर खीरी, गाजियाबाद और मेरठ जैसे तमाम शहरों में अवैध बूचड़खानों पर प्रशासन का डंडा चल गया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement