Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

किसानों की कर्जमाफी पर कांग्रेस ने योगी सरकार को घेरा, कहा-श्वेत पत्र लाएं

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला और प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने कांग्रेस कार्यालय पर आयोजित एक पत्रकार वार्ता में केंद्र की भाजपा सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर उसे घेरा, साथ ही प्रदेश की दो महीने पुरानी भाजपा की योगी सरकार को 60 दिन में 600 वादे और लीपापोती वाली सरकार भी बता डाला.

ईमेल करें
टिप्पणियां
किसानों की कर्जमाफी पर कांग्रेस ने योगी सरकार को घेरा, कहा-श्वेत पत्र लाएं

कांग्रेस नेता राज बब्बर ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला किया.

खास बातें

  1. योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में बीजेपी सरकार ने पूरे किए 60 दिन
  2. कांग्रेस ने प्रेस कांफ्रेंस कर योगी सरकार पर किए हमले
  3. किसान कर्जमाफी पर श्वेत पत्र जारी करने की मांग की
लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को '60 दिन में 600 चेतावनी' और 'प्रचार एवं लीपापोती' वाली सरकार बताते हुये कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार तो किसानों को राहत और कर्जमाफी के नाम पर धोखा तो दे ही रही थी अब वही काम उत्तर प्रदेश की योगी सरकार भी कर रही है. उन्होंने प्रदेश सरकार से किसानों की कर्ज माफी पर श्वेत पत्र लाने की मांग की. केंद्र की भाजपा सरकार के तीन साल पूरे होने पर उन्होंने कहा कि केंद्र के उपेक्षित रवैये से देश में 35 किसान रोज आत्महत्या कर रहे हैं, और यह सरकार आजादी के 70 साल बाद किसानों की सबसे ज्यादा उपेक्षा करने वाली सरकार बन गयी है. 

सरकार न किसान से समर्थन मूल्य पर अनाज खरीदती है और न ही बाजार में किसानों को सही दाम मिलते हैं. भाजपा ने केंद्र में चुनाव जीतने के लिये अपने घोषणा पत्र में कहा था कि किसानों को लागत का 50 प्रतिशत ज्यादा समर्थन मूल्य दिया जायेगा, मगर सत्ता हासिल करने के बाद सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में शपथ पत्र देकर कहा कि लागत का पचास प्रतिशत ज्यादा समर्थन मूल्य किसानों को नहीं दिया जा सकता है.

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला और प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने कांग्रेस कार्यालय पर आयोजित एक पत्रकार वार्ता में केंद्र की भाजपा सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर उसे घेरा, साथ ही प्रदेश की दो महीने पुरानी भाजपा की योगी सरकार को 60 दिन में 600 वादे और लीपापोती वाली सरकार भी बता डाला.

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में दो करोड़ 15 लाख छोटे एवं सीमांत किसान परिवारों में से केवल 86 लाख 88 हजार किसान बैकिंग व्यवस्था के दायरे में है, जबकि दो करोड़ 15 लाख किसानों में से एक करोड़ 28 लाख किसान साहूकार के कर्जदार हैं उनकांे कर्जा माफी का एक फूटी कौड़ी का फायदा नहीं मिला है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement