NDTV Khabar

योगी आदित्‍यनाथ आज दिल्‍ली आएंगे, मंत्रियों के विभाग बंटवारे पर अमित शाह से करेंगे चर्चा

92 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
योगी आदित्‍यनाथ आज दिल्‍ली आएंगे, मंत्रियों के विभाग बंटवारे पर अमित शाह से करेंगे चर्चा

योगी आदित्‍यनाथ आज पीएम, राष्‍ट्रपति और उपराष्‍ट्रपति से मुलाकात कर सकते हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पीएम मोदी, राष्‍ट्रपति और उपराष्‍ट्रपति से भी मिलने का कार्यक्रम
  2. इससे पहले अधिकारियों को घोषणापत्र के अनुरूप योजनाएं बनाने को कहा
  3. सभी अधिकारियों को 15 दिनों के भीतर अपनी संपत्ति का देना होगा ब्‍योरा
नई दिल्‍ली: उत्‍तर प्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ आज दिल्‍ली आ रहे हैं. मुख्‍यमंत्री चुने जाने के बाद यह उनका पहला दिल्‍ली दौरा होगा. सूत्रों के मुताबिक माना जा रहा है कि वह मंत्रियों के विभाग के बंटवारे पर बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह से चर्चा करेंगे. उनसे राय-मशविरा करने के बाद विभागों का बंटवारा किया जा सकता है. इस अलावा मुख्‍यमंत्री का पीएम मोदी, राष्‍ट्रपति और उपराष्‍ट्रपति से मिलने का भी कार्यक्रम है. इसके अलावा कई अन्‍य बीजेपी नेताओं से भी वह मुलाकात करेंगे. वह संसद भी जा सकते हैं. उनके आज सुबह तकरीबन नौ बजे दिल्‍ली पहुंचने की संभावना है. इसके पहले नई सरकार ने सोमवार शाम को बड़ा फैसला लेते हुए अखिलेश सरकार में नियुक्‍त किए गए सभी गैरसरकारी सलाहकारों, उपाध्‍यक्षों और चेयरमैनों को हटा दिया है. इस संबंध में मुख्‍य सचिव राहुल भटनागर ने आदेश पारित किया.

इससे पहले सोमवार को मुख्‍यमंत्री ने अपने कार्यकाल के पहले दिन अधिकारियों से 15 दिन में अपनी संपत्तियों का ब्योरा देने को कहा. उन्होंने नौकरियों में मेरिट के आधार पर भर्तियां करने के लिए कहा. योगी की सरकार बनते ही बूचड़खानों पर गाज गिरनी शुरू हो गई है. रविवार को रात में इलाहाबाद के अटाले इलाके में तीन बूचड़खानों पर ताले लगा दिए गए.

योगी ने अफसरों से कहा कि अधिकारी लोक संकल्प के हिसाब से योजना बनाएं. इस मौके पर स्वच्छता के लिए सभी अफसरों को शपथ दिलाई गई. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निवेश बढ़ाने पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट पॉलिसी बेहतर की जाएगी. सीएम ने कहा कि तहसील और थानों में किसी भी तरह का राजनैतिक दबाव नहीं होना चाहिए, जीरो टॉलरेंस होना चाहिए. महिलाओं के प्रति अधिकारी अपना रुख बदलें. उन्होंने कहा कि अधिकारी बजट की तैयारी करें. 15 जून से 15 जुलाई के बीच बजट सत्र हो सकता है.

इसके पहले रविवार को मुख्यमंत्री ने शपथ ग्रहण के तुरंत बाद अपने मंत्रिमंडल के साथ एक अनौपचारिक बैठक की थी. भ्रष्टाचार के विरुद्ध बड़ा कदम उठाते हुए योगी आदित्यनाथ ने रविवार को ही अपने सभी मंत्रियों से अपनी संपत्ति और पूंजी का ब्योरा 15 दिन के भीतर सार्वजनिक करने के लिए कहा था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement