Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

युवा कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर साथा निशाना, NRC और NPR के बजाय बेरोजगार रजिस्टर लाए जाने की रखी मांग

राष्ट्रीय बेरोजगार रजिस्टर की अविलम्ब मांग को लेकर भारतीय युवा कांग्रेस द्वारा भाषण प्रतियोगिता का आयोजन करेगी.

युवा कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर साथा निशाना, NRC और NPR के बजाय बेरोजगार रजिस्टर लाए जाने की रखी मांग

युवा कांग्रेस ने बेरोजगार रजिस्टर लाए जाने की मांग की है (प्रतीकात्मक तस्वीर).

खास बातें

  • युवा कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है
  • NRC और NPR की जगह बेरोजगार रजिस्टर की मांग रखी
  • युवा कांग्रेस भाषण प्रतियोगिता का करेगी आयोजन
भोपाल:

देश में बेरोजगारी की बढ़ती दर को लेकर केन्द्र की बीजेपी सरकार पर तंज कसते हुए भारतीय युवा कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि सरकार को देश में एनआरसी और एनपीआर के स्थान पर राष्ट्रीय बेरोजगार पंजी बनवाना चाहिए. भारतीय युवा कांग्रेस ने कहा कि वह क्रांतिकारी भगत सिंह के शहीदी दिवस पर 23 मार्च को नई दिल्ली में ‘भारत में बेरोजगार' विषय पर अखिल भारतीय स्तर की भाषण प्रतियोगिता का आयोजन करेगी.

युवा कांग्रेस  के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजीव शुक्ला एवं मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने संयुक्त रूप से बताया, ‘‘राष्ट्रीय बेरोजगार रजिस्टर की अविलम्ब मांग को लेकर भारतीय युवा कांग्रेस द्वारा ‘यंग इंडिया के बोल 2020' नाम से अखिल भारतीय स्तर पर एक भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है. इसका विषय ‘भारत में बेरोजगार' होगा और यह आयोजन नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में 23 मार्च को होगा.''

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी बोले- ब्रिटिश सांसद को वापस भेजना बहुत जरूरी था, बताई वजह

दोनों नेताओं ने कहा कि इस आयोजन का प्रमुख उद्देश्य है कि देश के ऊर्जावान, सक्षम एवं अच्छे युवा वक्ताओं को राष्ट्रीय मंच पर एक अवसर प्रदान करना है, जिसके द्वारा वे अपनी अभिव्यक्ति के माध्यम से देश की नई पीढ़ी को सहभागी लोकतंत्र के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित कर सकें.

उन्होंने कहा कि इस भाषण प्रतियोगिता के जरिए युवा कांग्रेस देश भर के युवाओं का आह्वान करती है कि वे ‘बेरोजगारी' शीर्षक पर भाषण के जरिए अपने विचार प्रस्तुत करें. चयनित प्रतिभागियों को युवा कांग्रेस की आवाज बनने का अवसर दिया जाएगा.

शुक्ला एवं चौधरी ने कहा कि इस भाषण प्रतियोगिता के लिए 18 से 35 वर्ष के आयु वर्ग का कोई भी युवा अपना नि:शुल्क आवेदन 29 फरवरी 2020 तक जमा करवा सकता है. यह भाषण प्रतियोगिता हिंदी, अंग्रेजी और सभी क्षेत्रीय भाषाओं में होगी.

भीमा-कोरेगांव मामले की जांच पर महाराष्ट्र में खींचतान जारी, अब शरद पवार की NCP ने लिया यह फैसला

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हर साल दो करोड़ नौकरियां देने का वादा किया था, लेकिन इसका कोई आंकड़ा नहीं है. नौकरी दिलाने की जगह प्रधानमंत्री पकौड़े तलने की सलाह देते हैं. मोदी सरकार को यह बताना चाहिए की उसने पिछले छह साल में कितने युवाओं को नौकरी दी और आगे बेरोजगारी कैसे दूर करेगी.''

उन्होंने कहा, ‘‘देश को एनआरसी एवं एनपीआर की जरूरत नहीं, बल्कि एनआरयू की जरूरत है. मोदी सरकार एनआरसी एवं एनपीआर की बजाय एनआरयू बनाये.''

देखें Video: खबरों की खबर : कांग्रेस में अपनों से ही दो दो 'हाथ'