NDTV Khabar

पुलवामा में गोली से छलनी युवक का शव बरामद

शव पर कई गोलियों के निशान हैं. पुलिस उन परिस्थितियों की जांच कर रही है जिसमें उसकी हत्या की गयी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुलवामा में गोली से छलनी युवक का शव बरामद

खास बातें

  1. 45 साल के एक व्यक्ति का गोली से छलनी शव बरामद
  2. आतंकवादियों और पुलिस दोनों की मदद करता था
  3. पुलवामा के गडोरा गांव का रहने वाला था
नई दिल्ली: पुलिस ने आज दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में कथित तौर पर आतंकवादियों और सुरक्षा बलों दोनों के लिए काम करने वाले 45 साल के एक व्यक्ति का गोली से छलनी शव बरामद किया है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आज सुबह पुलवामा के गडोरा गांव में मोहम्मद यूसुफ लोन का शव बरामद किया गया है.


उन्होंने बताया कि शव पर कई गोलियों के निशान हैं. पुलिस उन परिस्थितियों की जांच कर रही है जिसमें उसकी हत्या की गयी है. अधिकारी ने बताया कि प्रारंभिक जांच में खुलासा हुआ है कि लोन आतंकवादियों के लिए भूमिगत होकर काम करने के साथ साथ सुरक्षा बलों के एक सूत्र के रूप में भी काम कर रहा था.  फिलहाल पूरी बात जांच रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल पाएगी.


गौरतलब है कि कश्मीर में पिछले कई दिनों से आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ की खबरें आ रही हैं. कुछ दिन पहले ही सेना के 22 साल के लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की अगवा कर हत्या कर दी गई थी. लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की उस वक्त अगवा करके हत्या कर दी थी जब वो अपने एक रिश्तेदार के घर शादी में गए थे. उमर फैयाज कुलगाम के सुरसोना गांव के रहनेवाले थे. शादी में मौजूद लोगों का कहना है कि फैयाज दुल्हन के पास ही बैठा था जब आतंकी उसे घर से बाहर खींचकर ले गए और फिर उसकी हत्या कर दी. 


फैयाज की अगवा कर हत्या करने वाले आतंकियों के संदिग्ध पोस्टर पुलिस ने जारी कर दिए हैं.  पुलिस ने जिन तीन आतंकियों की तस्वीर जारी की है इनमें से इशफाक अहमद ठाकोर और गयास-उल-इस्लाम का ताल्लुक दक्षिण कश्मीर के पडरपुरा इलाके से है जबकि अब्बास अहमद भट्ट नाम का आतंकी मंत्रीबाग इलाके का रहने वाला है. ये तीनों आतंकी हिज्बुल मुजाहिदीन से जुड़े बताए गए हैं. पुलिस ने इन्हें पकड़ने में मदद करने वालों को ईनाम देने का भी ऐलान किया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement