NDTV Khabar

IPL 10 : क्या दक्षिण अफ्रीका बोर्ड ने BCCI की बांह मरोड़ने की कोशिश की?

डेविड मिलर और हाशिम अमला. क्रिकेट लीग में दक्षिण अफ़्रीका के ये दोनों खिलाड़ी पंजाब टीम में शामिल थे. लेकिन टूर्नामेंट के बीच में ही उन्हें देश लौटना पड़ा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IPL 10 : क्या दक्षिण अफ्रीका बोर्ड ने BCCI की बांह मरोड़ने की कोशिश की?

विराट कोहली की आरसीबी के एबी डिविलियर्स को स्वदेश जाना पड़ा है...

खास बातें

  1. आईसीसी में भी दक्षिण अफ्रीका ने नहीं दिया भारत का साथ
  2. अब आईपीएल के बीच में खिलाड़ियों को बुला लिया वापस
  3. दोनों बोर्डों के बीच पिछले कुछ समय से रिश्ते अच्छे नहीं हैं
नई दिल्ली: डेविड मिलर और हाशिम अमला. क्रिकेट लीग में दक्षिण अफ़्रीका के ये दोनों खिलाड़ी पंजाब टीम में शामिल थे. लेकिन टूर्नामेंट के बीच में ही उन्हें देश लौटना पड़ा है. मिलर और अमला के अलावा पुणे टीम में शामिल इमरान ताहिर और फाफ डु प्लेसिस, दिल्ली टीम के क्रिस मॉरिस और कागिसो रबाडा और बैंगलोर टीम में शामिल एबी डिविलियर्स को भी वापस जाना पड़ा है.

दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड ने इन खिलाड़ियों को इंग्लैंड के साथ वनडे सीरीज़ की तैयारी के लिए वापस बुला लिया है, लेकिन ये मामला इतना भर नहीं है. क्रिकेट दक्षिण अफ़्रीका चाहता तो अपने खिलाड़ियों को आईपीएल के बाद बुला सकता था. आईपीएल 21 मई को खत्म हो रहा है जबकि दक्षिण अफ़्रीका और इंग्लैंड के बीच वनडे सीरीज़ 24 मई को शुरू हो रही है.

टिप्पणियां
दरअसल क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के CEO हारुन लोगार्ट चाहते थे कि अगर इस साल बॉक्सिंग डे पर शुरू होने वाले भारत के दक्षिण अफ्रीका दौरे पर बीसीसीआई मुहर लगा दे, तो वे अपने खिलाड़ियों को आईपीएल के फ़ाइनल तक खेलने की इजाज़त दे सकते हैं, लेकिन बीसीसीआई इसके लिए तैयार नहीं था. बीसीसीआई के CEO राहुल जौहरी का कहना है कि दौरे का फ़ैसला सही समय आने पर ही किया जाएगा.

आईसीसी के बिग-3 फ़ॉर्मूले को खारिज किए जाने के बाद बीसीसीआई और दुनिया के दूसरे क्रिकेट बोर्ड के बीच रिश्तों में तल्खी आ गई है. दक्षिण अफ़्रीका क्रिकेट बोर्ड ने भी भारत के खिलाफ वोटिंग की थी. आईपीएल से अपने खिलाड़ियों को वापस बुलाने की एक और वज़ह है. दक्षिण अफ़्रीका नवंबर में अपने यहां प्रस्तावित ग्लोबल डेस्टिनेशन T20 लीग के लिए भी भारत का समर्थन चाहता है, लेकिन बीसीसीआई अपनी अंदरूनी उठापटक और उलटफेर के बीच कोई फ़ैसला नहीं ले पा रहा है. 
हालांकि इन सबके बीच बीसीसीआई को कमज़ोर मानकर बांह मरोड़ना किसी के लिए अब भी आसान नहीं है. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement