NDTV Khabar

IPL10 : एबी डिविलियर्स का दावा, RCB में रहते हुए मैंने विराट कोहली की इस बात में भरपूर मदद की..

73 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
IPL10 : एबी डिविलियर्स का दावा,  RCB में रहते हुए मैंने विराट कोहली की इस बात में भरपूर मदद की..

विराट कोहली अेौर डिविलियर्स, दोनों ही चोट के कारण आरसीबी के शुरुआती मैचों में नहीं खेल पा रहे हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. एबी ने कहा, कोहली ने मुझे खेल का जुनून कायम रखने में मदद की
  2. मैंने उन्‍हें कप्‍तानी के प्रेशर में शांत रहने की कला सीखने में सहायता की
  3. एबी बोले, विराट और मैं खेल के प्रति जुनून के मामले में एक जैसे है
दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स की छवि क्रिकेट मैदान के चारों ओर जोरदार स्‍ट्रोक लगाने वाले बल्‍लेबाज की है, लेकिन हाल में उनका एक अलग रूप भी सामने आया है. यह रूप है आईपीएल में आरसीबी के उनके कप्‍तान विराट कोहली के मददगार और दोस्‍त का. डिविलियर्स के अनुसार, विराट कोहली ने खेल के प्रति उनका जुनून बरकरार रखने में मदद की है. इसके साथ ही डिव‍िलियर्स ने दावा किया कि उन्होंने आईपीएल टीम के अपने कप्‍तान की दबाव में शांत रहने की कला सीखने में मदद की.

कोहली और डिविलियर्स आईपीएल में रायल चैलेंजर्स बेंगलूर की ओर से खेलते हैं और उन्हें मैदान के बाहर भी अच्छा दोस्त माना जाता है. डिविलियर्स ने ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ से कहा, ‘मैं उससे कुछ साल आगे हूं. मुझे लगता है कि मैं उसके समान हूं. हम दोनों ही खेल को काफी जुनून, ऊर्जा और अच्छे कौशल के साथ खेलते हैं, अपने खेल पर कड़ी मेहनत करते हैं और हार बिलकुल भी स्वीकार नहीं करते.’ उन्होंने कहा, ‘मुझे उसका जज्बा देखना पसंद है. वह मेरी अधिक उम्र में मुझे यह जज्बा दे रहा है.’दक्षिण अफ्रीका के इस स्टार ने दावा किया कि कोहली को शांत करने में उनका भी प्रभाव है. डिव‍िलियर्स ने कहा, ‘उसने (विराट ने) जो चीज मुझसे सीखी है वह शायद कुछ हद तक चीजों को नियंत्रित करना, दबाव में शांत रहना और स्पष्ट तथा सही फैसले लेने के लिए कभी कभी जुनून को कुछ हद तक छिपाना शामिल है.’ उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि वह यह हासिल करने के काफी करीब हैं और शायद यह ऐसी चीज है जो उसने मुझमें देखी है.’

दक्षिण अफ्रीका के डिविलियर्स 10000 टेस्ट रन के आंकड़े के बहुत करीब हैं. वैसे, 8074 रन बनाने के बावजूद वह इसे बड़ी उपलब्धि नहीं मानते. पीठ में तकलीफ के कारण डिविलियर्स आईपीएल 10 में अभी नहीं खेल पा रहे हैं लेकिन उन्होंने कहा कि उन्हें 33 बरस की उम्र में भी चोट से उबरने में कोई समस्या नहीं है. उन्‍होंने कहा कि जब-जब मैं चोट के कारण बाहर हुआ हूं, मानसिक रूप से और मजबूत होकर मैंने वापसी की है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement