NDTV Khabar

IPL final 2017: ये 5 बातें कर रही इशारा, मुंबई इंडियंस तीसरी बार बन सकता है IPL का किंग

इस बार मुंबई इंडियन सबसे शानदार प्रदर्शन करते हुए अंक तालिका में पहला स्थान पर रहा और पुणे दूसरे स्थान पर. हां यह सच है कि इस बार मुंबई इंडियंस और पुणे एक दूसरे के खिलाफ तीन बार लड़े हैं और तीनों बार पुणे को जीत मिली है, लेकिन फाइनल में मुंबई का रिकार्ड्स अच्छा रहा है. अब तक मुंबई तीन बार फाइनल में पहुंच चुका है जिसमें से दो बार उसे जीत मिली है और एक बार हार.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IPL final 2017: ये 5 बातें कर रही इशारा, मुंबई इंडियंस तीसरी बार बन सकता है IPL का किंग

IPL 2017 के फाइनल में मुंबई इंडियंस और राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स की टीम पहुंची है.

खास बातें

  1. आईपीएल 2017 के फाइनल में मुंबई इंडियंस का पलड़ा भारी
  2. राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के पास अनुभवी गेंदबाजों की कमी
  3. मुंबई इंडियंस के ज्यादातर बल्लेबाज फॉर्म में चल रह हैं
नई दिल्ली: हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम पर मुंबई इंडियंस और राइजिंग पुणे सुपरजाएंट बीच आईपीएल-10 के फाइनल मैच खेला जाएगा. पहले क्वालिफायर में पुणे की टीम मुंबई को हराकर फाइनल में पहुंची थी. वहीं दूसरे क्वालिफफायर में मुंबई ने कोलकाता नाइट राइडर्स को मात देकर फाइनल में अपना जगह पक्का किया था. आईपीएल के इतिहास में यह पहली बार होगा जब फाइनल मैच हैदराबाद में खेला जाएगा. यह चौथी बार है जब मुंबई इंडियन फाइनल में पहुंचा है जब की पुणे पहली बार फाइनल में अपना किस्मत अजमाने जा रहा है. रिकार्ड्स को देखते हुए लग रहा है कि मुंबई इंडियंस के तीसरी बार चैंपियन बन सकती है.

रोहित शर्मा के कप्तानी में मुंबईं इंडियंस फाइनल में कभी नहीं हारा

इस बार मुंबई इंडियन सबसे शानदार प्रदर्शन करते हुए अंक तालिका में पहला स्थान पर रहा और पुणे दूसरे स्थान पर. हां यह सच है कि इस बार मुंबई इंडियंस और पुणे एक दूसरे के खिलाफ तीन बार लड़े हैं और तीनों बार पुणे को जीत मिली है, लेकिन फाइनल में मुंबई का रिकार्ड्स अच्छा रहा है. अब तक मुंबई तीन बार फाइनल में पहुंच चुका है जिसमें से दो बार उसे जीत मिली है और एक बार हार. सबसे बड़ी बात यह है की रोहित शर्मा के कप्तानी में मुंबई इंडियंस फाइनल में कभी नहीं हारा है. 

2013 में मुंबई इंडियंस ने रोहित शर्मा की कप्तानी ने महेंद्र सिंह धोनी के टीम चेन्नई सुपर किंग्स को 13 रन से हराकर चैंपियन बना था फिर दूसरी बार 2015 में रोहित के कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने धोनी के टीम चेन्नई सुपर किंग्स को 41 रन से हराया था. 2010 में मुंबई इंडियंस फाइनल मैच में चेन्नई सुपर किंग्स से हार गया था, लेकिन उस वक्त मुंबई इंडियंस के कप्तान सचिन तेंदुलकर थे. 

मुंबई इंडियंस की शानदार बल्लेबाजी

इस बार मुंबई इंडियंस ने शानदार बल्लेबाजी किया है. मुंबई इंडियंस ने दो बार 200 से भी ज्यादा रब बनाया है. पंजाब के खिलाफ 231 रन का पीछा करते हुए मुंबई इंडियंस ने 223 रन बनाया था और दिल्ली के खिलाफ मुंबई इंडियंस ने 212 रन का एक विशाल स्कोर खड़ा करते हुए दिल्ली को 146 रन से हराया था जो आईपीएल के इतिहास में सबसे बड़ी जीत है. अगर पुणे की बात किया जाए तो इस बार पुणे एक भी बार 200 का आंकड़ा पार नहीं कर पाया है. इस बार पुणे का सबसे ज्यादा स्कोर 187 रन रहा है.  6 अप्रैल 2017 को मुंबई इंडियंस के खिलाफ पुणे ने यह स्कोर बनाया था.  

बल्लेबाजी पर एक नजर

अगर बल्लेबाजों की बात की जाए तो पुणे के कप्तान स्टीवन स्मिथ अच्छे फॉर्म में चल रहे हैं.  स्मिथ ने 14 मैचों में 421 रन बनाए हैं जिस में दो अर्धशतक शामिल है.  स्मिथ के बाद पुणे के लिए राहुल त्रिपाठी ने भी अच्छा बल्लेबाजी की है. त्रिपाठी ने 13 मैचों में 388 रन बनाए है. मुंबई के लिए पार्थिव पटेल और कीरोन पोलार्ड भी अच्छा प्रदर्शन किये हैं. पार्थिव पटेल ने 15 मैचों में 391 रन बनाए है जब की पोलार्ड ने 16 मैच खेलते हुए 15 पारियों में 378 रन बनाया है. अगर पुणे के तरफ खेल रहे महेंद्र सिंह धोनी और मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा की बात किया जाए तो दोनों अच्छे फॉर्म में नहीं है. धोनी 15 मैचों में 14 पारियों में सिर्फ 280 बनाए हैं जिसमें एक अर्धशतक शामिल है. रोहित शर्मा 16 मैचों में 15 परियों में 309 रन बनाए हैं जिस में तीन अर्धशतक शामिल है. 

धोनी ने पहले क्वालिफायर में मुंबई के खिलाफ शानदार 40 बनाये थे और  22 अप्रैल को हैदराबाद के खिलाफ 61 का पारी भी खेला था, लेकिन बाकी मैचों में धोनी विफल रहे हैं. सबसे बड़ी बात यह है कि इस बार स्ट्राइक रेट के मामले में भी धोनी पीछे रह गए हैं.  इस बार धोनी 118 के करीब स्ट्राइक रेट में रन बनाए हैं जो उनके आईपीएल करियर का सबसे कम स्ट्राइक रेट है. आईपीएल में धोनी का औसत स्ट्राइक रेट की बात की जाए तो यह 137 के करीब है. 

पुणे के पास अनुभवी गेंदबाज़ों की कमी

पुणे के पास स्मिथ, धोनी, अजिंक्य राहणे, राहुल त्रिपाठी , मनोज तिवारी जैसे बल्लेबाज हैं तो मुंबई के पास पार्थिव पटेल, रोहित शर्मा, कीरोन पोलार्ड, लेंडल सिमन्स, नीतीश राणा जैसे बल्लेबाज है. अगर गेंदबाजी की जाए तो मुंबई के पास पुणे से ज्यादा अनुभवी गेंदबाज हैं. मुंबई के पास लासिथ मलिंगा, हरभजन सिंह, मिचेल जॉनसन, टिम साउथी, मिचेल मैकक्लेनाघन जैसे गेंदबाज हैं, लेकिन पुणे के पास ज्यादा अनुभवी गेंदबाज नहीं है. पुणे के पास जयदेव उनादकट, वाशिंगटन सुंदर, डेनियल क्रिस्टियन,एडम जम्पा  शार्दुल ठाकुर जैसे गेंदबाज़ तो है लेकिन इन गेंदबाजों के पास ज्यादा अनुभव नहीं है.

पांड्या भाइयों जैसे ऑल-राउंडर पुणे के पास नहीं है 

पुणे के पास पांड्या भाइयों जैसे ऑल-राउंडर की कमी है. हार्दिक पांड्या और क्रुणाल पांड्या  इस बार ऑल राउंडर के रूप में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं.  हार्दिक पांड्या मुंबई के तरफ से 16 मैच खेलते हुए 15 पारियों में 40 के औसत से 240 रन बनाया है. हार्दिक का स्ट्राइक रेट भी 159 के करीब है. हार्दिक ने छह विकेट लेने भी कामयाब हुए हैं. 

टिप्पणियां
अगर कुणाल पांड्या कि बात की जाए तो क्रुणाल ने 12 मैच खेलते हुए 10 पारियों में करीब 33 के औसत से 196 रन बनाए है और 10 विकेट लेने में कामयाब हुआ है. सबसे बड़ी बात यह है कि क्रुणाल की इकॉनमी सात से भी नीचे है जो टी 20 क्रिकेट में अच्छी मानी जाती है.

पुणे के बेन स्टोक्स एक अच्छा ऑल राउंडर है.  स्टोक्स ने 12 मैच खेलते 11 पारियों में करीब 32 के औसत से 316 रन बनाए है और 12 विकेट भी लिए हैं. लेकिन स्टोक्स पुणे के लिए फाइनल मैच नहीं खेलेंगे. ट्रेनिंग कैंप के लिए स्टोक्स इंग्लैंड वापस जा चुके हैं. स्टोक्स को पुणे ने सबसे ज्यादा 14.5 करोड़ से ख़रीदा था. स्टोक्स से सिवा कोई भी दूसरा ऑल राउंडर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement