NDTV Khabar

IPL 2018 में सचिन तेंदुलकर के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करके निहाल हुआ MI का यह युवा क्रिकेटर

क्रिकेट में भगवान का दर्जा पा चुके सचिन तेंदुलकर का साथ हासिल करना ही किसी भी युवा क्रिकेटर के लिए ख्‍वाब की तरह होता है.

43 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
IPL 2018 में सचिन तेंदुलकर के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करके निहाल हुआ MI का यह युवा क्रिकेटर

आईपीएल के 11वें सीजन में मयंक मार्कंडे ने मुंबई इंडियंस की ओर से खेलकर हर किसी को प्रभावित किया (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. आईपीएल-11 में MI की ओर से खेले मयंक मार्कंडे
  2. महान सचिन तेंदुलकर हैं इस टीम के मेंटर
  3. मयंक बोले, सचिन की मौजूदगी सर्वश्रेष्‍ठ करने के लिए प्रेरित करती है
नई दिल्ली:
टिप्पणियां
क्रिकेट में भगवान का दर्जा पा चुके सचिन तेंदुलकर का साथ हासिल करना ही किसी भी युवा क्रिकेटर के लिए ख्‍वाब की तरह होता है. पंजाब के युवा लेग स्पिनर मयंक मार्कंडे आईपीएल के इस सीजन में मुंबई इंडियंस की ओर से खेले. सचिन मुंबई की टीम के साथ मेंटर के रूप में जुड़े हुए हैं. सचिन जैसे महान क्रिकेटर के साथ समय बिताकर मयंक अपने आपको खुशकिस्‍मत समझते हैं. मयंक ने इसी साल 11वें सीजन में मुंबई की जर्सी पहनी. उनका कहना है कि सचिन का ड्रेसिंग में रूम में होना मेरे लिए बहुत बड़ी बात थी. उनकी मौजूदगी ही आपको अच्‍छा प्रदर्शन करने की प्रेरणा देती है. मयंक ने ईमेल इंटरव्यू में कहा, "मैं सचिन का बहुत बड़ा फैन रहा हूं. उनका ड्रेसिंग रूम में होना ही मेरे लिए बड़ी बात थी. मैं उनसे पहले कभी नहीं मिला था तो जब मैंने उनको पहली बार देखा वो मेरा सबसे अच्छा दिन था. उन्होंने मुझे प्रेरित करने वाली बातें कहीं, जिससे मुझे अपना स्वाभाविक खेल खेलने में मदद मिली." आईपीएल के 11वें सीजन का पहला मैच मुंबई और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला गया था. इसी मैच से मयंक ने आईपीएल में पदार्पण किया था और तब से वह अपनी फिरकी से काफी लोगों को प्रभावित कर चुके हैं. मयंक की लेग स्पिन का प्रभाव इतना था कि वेस्टइंडीज के महान बल्लेबाज सर विवियन रिचर्ड्स ने एक अंग्रेजी अखबार में अपने लेख में लिखा कि 'मुंबई के पास मयंक के रूप पारस मणि' है. मयंक से जब पूछा गया कि इतने दिग्गज खिलाड़ी से तरीफ सुनना कितना प्ररेणादायक है? इस पर मयंक ने कहा, "अपनी टीम के साथियों, प्रशिक्षकों और सर विवियन रिचर्ड्स जैसे लोगों से तारीफ सुनना हमेशा से अच्छा लगता है. इससे मेरे जैसे युवा खिलाड़ी का उत्साह बढ़ता है, लेकिन समय के साथ मैंने यह सीखा है कि अब जबकि दिग्गजों की नजरें मुझ पर हैं और क्रिकेट को चाहने वाले लोग भी मेरी तरफ देख रहे है तो मुझे तारीफ पर बहुत ज्‍यादा मुग्‍ध नहीं होते हुए अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखना है." 20 वर्षीय इस खिलाड़ी ने कहा, "मुंबई इंडियंस के सहयोगी स्टाफ ने मेरी काफी मदद की. जब अनुभव की बात आती है तो हमारा ड्रेसिंग रूम सर्वश्रेष्ठ है. वह इस तरह की परिस्थतियों में रहे हैं और जानते हैं कि मैदान के अंदर और बाहर हालात से कैसे निपटा जाता है."

वीडियो: राजस्‍थान को हराकर कोलकाता क्‍वालिफायर में पहुंचा..
मयंक अब पंजाब लौट चुके हैं और अपने राज्य के लिए रणजी खेलने की चाह रखते हैं. मयंक कहा कि आईपीएल में खेलना मेरे लिए सपने की तरह रहा. अब वह अपने दूसरे सपनों को सच करने के लिए मेहनत जारी रखना चाहते हैं. आईपीएल में अपनी स्पिन गेंदबाजी से मयंक ने बड़ा गेंदबाज होने के प्रमाण दिए. उन्‍होंने टूर्नामेंट के 14 मैचों में 24.53 के बेहतरीन औसत से 15 विकेट हासिल किए.(इनपुट: आईएएनएस)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement