NDTV Khabar

IPL 2018: किंग्‍स इलेवन के खिलाफ आरसीबी को जीत दिलाने के बाद यह बोले तेज गेंदबाज उमेश यादव..

विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू ने आईपीएल 2018 के मुकाबले में कल किंग्‍स इलेवन पंजाब को 10 विकेट से रौंदते हुए प्‍लेऑफ की अपनी उम्‍मीदों को बरकरार रखा है.

46 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
IPL 2018: किंग्‍स इलेवन के खिलाफ आरसीबी को जीत दिलाने के बाद यह बोले तेज गेंदबाज उमेश यादव..

किंग्‍स इलेवन के खिलाफ तीन विकेट लेने वाले उमेश यादव को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया

खास बातें

  1. मैच में तेज गेंदबाज उमेश यादव ने तीन विकेट हासिल किए
  2. कहा, गति मेरा मजबूत पक्ष, इससे समझौता नहीं करता मेरा पूरा ध्‍यान पेस और ब
  3. इस मैच में मेरा पूरा ध्‍यान पेस और बाउंस पर था
इंदौर: विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू ने आईपीएल 2018 के मुकाबले में कल किंग्‍स इलेवन पंजाब को 10 विकेट से रौंदते हुए प्‍लेऑफ की अपनी उम्‍मीदों को बरकरार रखा है. इंदौर के होल्‍कर स्‍टेडियम में खेले गए इस मैच में किंग्‍स इलेवन की टीम ने अपने प्रदर्शन से हर किसी को निराश किया. पहले बैटिंग करते हुए किंग्‍स इलेवन की टीम महज 88 रन पर आउट हो गई. किंग्‍स इलेवन की टीम को ढेर करने में आरसीबी के तेज गेंदबाज उमेश यादव ने अहम भूमिका निभाते हुए तीन विकेट हासिल किए. जवाब में आरसीबी ने कप्‍तान विराट कोहली और पार्थिव पटेल की नाबाद पारियों की बदौलत जीत के लिए जरूरी 89 रन का टारगेट बिना कोई विकेट खोए हासिल कर लिया. मैन ऑफ द मैच रहे उमेश यादव ने अपनी गति और अच्‍छी लाइन-लेंथ से विपक्षी बल्‍लेबाजों को लगातार बैकफुट पर रखा. मैच के बाद उमेश ने कहा कि गति मेरी गेंदबाजी का मजबूत पक्ष है और मैं इससे समझौता कभी नहीं करता. उन्‍होंने कहा कि मेरा ध्‍यान पूरी तरह से पेस और बाउंस पर था. उन्‍होंने कहा कि टूर्नामेंट में वहीं गेंदें फेंक रहा हूं जहां मेरे विचार से यह उचित होता है. इस योजना ने अभी तक अच्‍छी तरह से काम किया है. उम्‍मीद  हैं कि आगे भी मैं इस फॉर्म को बरकरार रखूंगा. उन्‍होंने कहा कि , "हम जानते हैं कि पंजाब के दो बल्लेबाज क्रिस गेल और लोकेश राहुल बेहद खतरनाक हैं और एक बार ये दोनों पिच पर जम गए, तो वे 180-190 तक स्कोर कर सकते हैं."

टिप्पणियां
वीडियो: आरसीबी ने किंग्‍स इलेवन को 10 विकेट से दी करारी शिकस्‍त
उमेश ने कहा, "हमारी टीम का लक्ष्य अच्छी गेंदबाजी करना था. मैं जानता था कि अगर हम उन्हें स्कोर करने का मौका नहीं देंगे तो टीम के लिए बेहतर होगा. मैं अपने पेस और बाउंस पर ध्यान दे रहा था, जो मेरी क्षमता है. इस योजना में मेरे कप्तान और टीम के साथ खिलाड़ियों ने मेरा समर्थन किया." (इनपुट: एजेंसी)

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement