Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

IPL10: फाइनल में कौन : कोलकाता या मुंबई - ये हैं दोनों टीमों के मजबूत और कमजोर पक्ष

गेंदबाजी और बल्‍लेबाजी में दोनों ही टीम संतुलित हैं और मुकाबला कड़ा होने की पूरी संभावना है.

ईमेल करें
टिप्पणियां
IPL10: फाइनल में कौन : कोलकाता या मुंबई - ये हैं दोनों टीमों के मजबूत और कमजोर पक्ष

गौतम गंभीर और रॉबिन उथप्‍पा अाईपीएल10 में अब तक कोलकाता की बैटिंग के आधार स्‍तंभ रहे हैं (फाइल फोटो)

आईपीएल 10 के अंतर्गत शुक्रवार को होने वाले क्‍वालिफायर 2 में फाइनल में पहुंचने वाली टीम का फैसला होगा. इस मुकाबले में गौतम गंभीर के नेतृत्‍व वाली कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) को रोहित शर्मा की मुंबई इंडियंस (MI)से दो-दो हाथ करना है. केकेआर की टीम जहां एलिमिनेटर में सनराइजर्स के खिलाफ जीत के बाद उत्‍साह से लबरेज है, वहीं मुंबई के सामने पुणे के खिलाफ मिली हार से उबरकर जीत का 'ट्रैक' फिर से पकड़ने की चुनौती है. इस क्वालिफायर 2 मैच में विजयी रहने वाली टीम 21 मई को हैदराबाद में खेले जाने वाले फाइनल मैच में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट का सामना करेगी.

गेंदबाजी और बल्‍लेबाजी में दोनों ही टीम संतुलित हैं और मुकाबला कड़ा होने की पूरी संभावना है. केकेआर में जहां गौतम गंभीर, क्रिस लिन, रॉबिन उथप्‍पा और मनीष पांडे जैसे धाकड़ बल्‍लेबाज हैं, वहीं गेंदबाजी में उमेश यादव, पीयूष चावला, कुलदीप यादव और नाथन कुल्‍टर नाइल टीम को संतुलन प्रदान करते हैं. दूसरी ओर मुंबई की बल्‍लेबाजी का दारोमदार लेंडल सिमंस, कप्‍तान रोहित शर्मा, कीरोन पोलार्ड और पार्थिव पटेल पर है. आलराउंडर के रूप में हार्दिक और क्रुणाल पांड्या भील तेजी से रन जुटाने में सक्षम हैं. गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह, लसिथ मलिंगा, हरभजन सिंह के अलावा क्रुणाल और हार्दिक पांड्या भी हैं. आइए नजर डालते हैं दोनों टीमों के मजबूत और कमजोर पक्षों पर..

मुंबई इंडियंस
मजबूत पक्ष : तूफानी बल्‍लेबाजों की बड़ी फौज. कीरोन पोलार्ड, हार्दिक पांड्या, क्रुणाल पांड्या जैसे बल्‍लेबाजों के रहते किसी भी लक्ष्‍य को हासिल करने में यह टीम सक्षम है. रोहित शर्मा भी अच्‍छे फॉर्म में हैं. पार्थिव पटेल विकेट के पीछे जिम्‍मेदारी निभाने के अलावा बल्‍ले से भी अच्‍छा प्रदर्शन कर रहे हैं.
-डेथ ओवर्स में गेंदबाजी और यॉर्कर फेंकने के मामले में जसप्रीत बुमराह और लसिथ मलिंगा बेजोड़ हैं. स्पिन गेंदबाजी के विभाग में हरभजन सिंह जैसा खिलाड़ी है.
-आईपीए10 के दोनों लीग मैचों में मुंबई ने कोलकाता को हराया है. ऐसे में हासिल की गई पिछली जीत रोहित शर्मा ब्रिगेड का मनोबल बढ़ाने का काम करेगी.

कमजोर पक्ष : टीम में बहुत अधिक आक्रामक शैली में बल्‍लेबाज हैं. इनके जल्‍दी आउट होने वाले टीम मुश्किल में आ जाती है. पुणे के खिलाफ मुकाबले के दौरान ऐसी ही स्थिति आई. गेंदबाजी में मलिंगा और हरभजन का प्रदर्शन बहुत अच्‍छा नहीं रहा है. ऐसे में जसप्रीत बुमराह पर दबाव बढ़ जाता है.

कोलकाता नाइटराडइर्स
मजबूत पक्ष : टीम के कप्‍तान गौतम गंभीर और रॉबिन उथप्‍पा  शानदार प्रदर्शन कर रहे है. चोट से उबरने के बाद क्रिस लिन के वापस आने से बल्‍लेबाजी को और मजबूती मिली हैं. पिंचहिटर के तौर पर सुनील नरेन ने धमाकेदार प्रदर्शन किया है, वही मध्‍यक्रम में मनीष पांडे भी बल्‍लेबाजी को मजबूती दे रहे हैं.
- गेंदबाजी में चाइनामैन कुलदीप यादव, उमेश यादव और नाथन कुल्‍टर नाइल हैं जो टीम के लिए लगातार विकेट हासिल कर रहे हैं.

कमजोर पक्ष: यूसुफ पठान का बल्‍लेबाज और गेंदबाज के रूप में कमजोर प्रदर्शन टीम के लिए चिंता का विषय है.बल्‍लेबाजी में टीम कप्‍तान गंभीर और मनीष पांडे पर बहुत अधिक निर्भर है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement