NDTV Khabar

IPL 2018, RR vs SRH: एक खराब फैसला, राजस्थान रॉयल्स की 11 रन से हार

RRvsSRH: हैदराबाद के बल्लेबाज इस स्पेशल चैलेंज पर पूरी तरह से खरे उतरे. और कप्तान केन विलियनसन का मैन ऑफ द मैच इस बात का सबसे बड़ा सबूत रहा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IPL 2018, RR vs SRH: एक खराब फैसला, राजस्थान रॉयल्स की 11 रन से हार

43 गेंदों पर 63 रन बनाने वाले केन विलियमसन मैन ऑफ द मैच चुने गए

खास बातें

  1. सनराइजर्स हैदराबाद-20 में 7 पर 151 रन, विलियमसन 63, हेल्स 45
  2. राजस्थान रॉयल्स-20 में 6 पर 140, रहाणे 65*, सैमसन 40
  3. विलियमसन चुने गए मैन ऑफ द मैच
नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में सनराइजर्स हैदराबाद ने राजस्थान रॉयल्स को 11 रन से अंतर से हरा दिया. और इस हार के पीछे सबसे बड़ा योगदान रहा राजस्थान रॉयल्स मैनेजमेंट के उस फैसले का, जो किसी को भी समझ में नहीं आया. टॉस जीतने के बाद सनराइजर्स हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में 7 विकेट पर 151 रन बनाए. केन विलियमसन ने 63 और एलेक्स हेल्स ने 45 रन बनाए, जवाब में राजस्थान रॉयल्स की टीम कोटे के ओवरों में 6 ओवर में 140 रना ही बना सकी. कप्तान अजिंक्य रहाणे 65 रन बनाकर नाबाद रहे, तो संजू सैमसन ने 40 रनबनाए. हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन को उनकी पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया. 
इतनी बड़ी गलती!
किसी को भी यह समझ में नहीं आया कि राजस्थान रॉयल्स के मैनेजमेंट ने अप्रत्याशित तरीके से पिछला मैच जिताने वाले कृष्णा गौतम से पहले नवसिखिए और अंडर-19 के बल्लेबाज महिपाल लोमरोर को अति निर्णायक पलों में बैटिंग के लिए क्यों भेजा. जब 6 ओवर में 56 रन की दरकार थी, तब महिपाल को नंबर छह पर भेजा गया. कृष्णा गौतम से पहले. महिपाल ने इस दौरान 12 गेंदों पर 11 रन बनाए. अगर कृष्णा पहले आते, तो न केवल उन्हें निगाहें जमाने का ज्यादा समय मिलता, बल्कि कौन जानता है कि मैच राजस्थान की झोली में गिर गया होता. राजस्थान मैनेजमेंट का यह फैसला पैरों का कुल्हाड़ी मारने जैसा साबित हुआ. आपको ध्यान दिला दें कि यह वही कृष्णा गौतम हैं, जिन्होंने 22 अप्रैल को सिर्फ 11 गेंदों पर नाबाद 33 रन बनाकर मुंबई इंडियंस से जीता हुआ मैच छीन लिया था. 
हार के साथ लौटे अजिंक्य रहाणे!
इस मैच में हार का सबसे ज्यादा मलाल राजस्थान के कप्तान अजिंक्य रहाणे को रहेगा. रहाणे पारी करने उतरे और 65 रन बनाकर आखिर तक नॉटआउट लौटे. उन्होंने 53 गेंद खेलीं और 5 चौके और 1 छक्का लगाया. लेकिन सिर्फ 11 रन के अंतर से वह राजस्थान को जीत नहीं दिला सके और उनकी नाबाद पारी बेकार चली गई.  
संजू सैमसन का पावर-प्ले!
राजस्थान के लिए 152 के टारगेट का पीछा करते हुए शुरुआती 6 ओवर बहुत ही अहम थे. राहुल त्रिपाठी सस्ते में निपट गए, तो लगा कि राजस्थान का हाल भी हैदराबाद की तरह ही होने जा रहा है, लेकिन इन फॉर्म बल्लेबाज संजू सैमसन का कॉन्फिडेंस इन दिनों अलग ही मुकाम पर है. मैदान पर उतरने के बाद ठीक अगले ही और बासिल थंपी के फेंके चौथे ओवर में संजू ने दो चौके और एक छक्का जड़कर यह सुनिश्चत कर दिया वे पावर-प्ले (शुरुआती 6 ओवर, 30 गज के घेरे के बाहर सिर्फ 2 फील्डर) का फायदा जरूर उठाएंगे. और बहुत हद तक वह इसमें कामयाब भी रहे. राजस्थान इस दौरान एक विकेट पर 43 रन बनाने में कामयाब रहा. इसमें संजू का योगदान 18 गेंदोें पर 27 रन का था.
 
  
यह भी पढ़ें: IPL 2018: चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स को झटका, यह प्रमुख गेंदबाज चोट के कारण दो हफ्ते के लिए हुआ बाहर...

SUNRISERS HYDERABAD की पारी
इससे पहले कप्तान कप्तान विलियसन के तेज 63 और हेल्स के 45 रन से सनराइजर्स हैदराबाद ने राजस्थान रॉयल्स के सामने 151 रन का लक्ष्य रखा. हैदराबाद एक समय मजबूत स्कोर बनाता दिखाई पड़ रहा था. लेकिन आखिरी पांच ओवरों में राजस्थान के गेंदबाजों ने शानदार वापसी करते हुए हैदराबाद  की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिया. इससे हैदराबाद कोटे के 20 ओवरों में 7 विकेट पर 151 रन ही बना सके.
  पावर-प्ले में पस्त पड़े हैदराबादी ओपनर
टॉस जीतने के बाद पहले बैटिंग के फैसले को राजस्थानी बल्लेबाज कम से कम पावर प्ले (शुरुआती 6 ओवर, 30 गज के घेरे के बाहर सिर्फ2 फील्डर) सार्थक नहीं ही कर सके. ऑफ स्पिनर कृष्णा गोथम को सस्ते में क्या चलता किया कि दूसरे सलामी बल्लेबाज एलेक्स हेल्स और कप्तान केन विलियम्स की मन और अंदाज गति पर भी मानो ब्रेक सा लग गया. पावर-प्ले की टक्कर में राजस्थानी गेंदबाज हैदराबाद के स्पेशल चैलेंज पर बीस साबित हुए. और उसके बल्लेबाज शुरुआती 6 ओवरों में सिर्फ 1 विकेट पर 39 रन ही बना सके. और यह टी-20 ही नहीं बल्कि एक तरह से वनडे के लिहाज से भी कम औसत रहा. केन विलियमसन का हल्ला बोल!
शिखर धवन के आउट होने के बाद हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन और एलेक्स हेल्स ने दूसरे विकेट के लिए 92 रो जोड़कर टीम को मजबूती दी, लेकिन 10 ओवर में 1 विकेट पर 70 रन का स्कोर रनगति को बहुत ही धीमा बयां कर रहा था. ऐसे में विलियनसन ने जयदेव उनादकट के फेंके 12वे ओवर में जबर्दस्त हमला बोला. इस ओवर में विलियमसन ने करीब 11 करोड़ में बिकने वाले उनादकट के ओवर में 3 चौके और 1 छक्का जड़ने के साथ 21 रन तो बटोरे ही, उन्होंने 32 गेंदों पर पचासा भी जड़ डाला. तेवर कह रहे थे विलियमसन शतक भी बना सकते हैं. लेकिन जब उम्मीदें जवां हो चली थीं, तभी न्यूजीलैंड के लेग स्पिनर ईश सोढ़ी ने उन्हें 63 रन पर विकेट के पीछे लपकवा दिया. विलियमसन ने 43 गेंद खेलीं और 7 चौके और 2 छक्के जड़े. इससे पहले सनराइजर्स हैदराबाद ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ टॉस जीतने के बाद पहले बल्लेबाजी का फैसला किया है. जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में खेले जाने वाले इस मैच में हैदराबाद ने अपनी इलेवन में नबी की जगह हेल्स को जगह दी है. वहीं, राजस्थान ने दो बदलाव किए हैं. न्यूजीलैंड के लेग स्पिनर सोढ़ी और स्थानीय खिलाड़ी  महिपाल लोमरोर को राजस्थान ने इलेवन में शामिल किया. 

आज के मैच के लिए दोनों टीमें इस प्रकार रहीं:

राजस्थान रॉयल्स : अजिंक्य रहाणे (कप्तान), राहुल त्रिपाठी, संजू सैमसन, बेन स्टोक्स, जोस बटलनर, जोफ्रा आर्चर, के. गोथम, महिपाल लोमरोर, जयदेव उनादकट, धवल कुलकर्णी और ईश सोढ़ी\

टिप्पणियां
सनराइजर्स हैदराबाद : केन विलियसन (कप्तान), शिखर धवन, रिद्धिमान साहा, मनीष पांडे, शाकिब-हल-हसन, यूसुफ पठान, एलेक्स हेल्स, राशिद खान, बासिल थंपी, सिद्धार्थ कौल और संदीप शर्मा


VIDEO: विराट कोहली ने कुछ दिन पहले ही एनडीटीवी से बात की थी. 
पिछले मैच में ज्यादातर मैच गेंदबाजों के बूते जीतने वाले हैदराबाद के सामने यह मुकाबला बल्लेबाजों के बूते जीतने का स्पेशल चैलेंज था. और कप्तान केन विलियमसन ने मैन ऑफ द मैच झटककर इस चैलेंज की बहुत ही शानदार अंदाज में अगुवाई की.  
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement