NDTV Khabar

RCB के खिलाफ KKR की नजरें प्लेऑफ पर, क्या हार का सिलसिला तोड़ेंगे विराट कोहली?

लगातार दो हार की हताशा के बीच कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम इंडियन प्रीमियर लीग में आज यानी रविवार को बेंगलुरु में जब अंतिम पायदान पर चल रहे रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु से भिड़ेगी तो उसका इरादा दोबारा लय हासिल करना और नॉकआउट चरण में जगह पक्की करने के करीब पहुंचना होगा. पिछले दो मैचों में सनराइजर्स हैदराबाद और राइजिंग पुणे सुपरजाइंट के हाथों शिकस्त झेलने वाली केकेआर की टीम को प्ले ऑफ में जगह सुनिश्चित करने के लिए अपने अंतिम तीन मैचों में से दो जीतने होंगे.

4 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
RCB के खिलाफ KKR की नजरें प्लेऑफ पर, क्या हार का सिलसिला तोड़ेंगे विराट कोहली?

दो बार की चैंपियन केकेआर की टीम 11 मैचों में 14 अंक के साथ तीसरे स्थान पर है.

नई दिल्ली: लगातार दो हार की हताशा के बीच कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम इंडियन प्रीमियर लीग में आज यानी रविवार को बेंगलुरु में जब अंतिम पायदान पर चल रहे रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु से भिड़ेगी तो उसका इरादा दोबारा लय हासिल करना और नॉकआउट चरण में जगह पक्की करने के करीब पहुंचना होगा. पिछले दो मैचों में सनराइजर्स हैदराबाद और राइजिंग पुणे सुपरजाइंट के हाथों शिकस्त झेलने वाली केकेआर की टीम को प्ले ऑफ में जगह सुनिश्चित करने के लिए अपने अंतिम तीन मैचों में से दो जीतने होंगे. दो बार की चैंपियन केकेआर की टीम 11 मैचों में 14 अंक के साथ अंक तालिका में तीसरे स्थान पर है.

पुणे की टीम के 14 जबकि हैदराबाद के 13 अंक हैं. दोनों टीमों के बीच हुए पिछले मुकाबले में केकेआर ने 82 रन से जीत दर्ज की थी और आरसीबी की टीम सिर्फ 49 रन पर ढेर हो गई थी जो आईपीएल इतिहास का न्यूनतम स्कोर है और गौतम गंभीर की टीम इस प्रदर्शन को दोहराने की कोशिश करेगी. केकेआर की टीम सुनील नारायण से पारी की शुरूआत कराने का जुआ खेल रही है. जब नारायण लय में होते हैं तो टीम की राह आसान होती है क्योंकि गंभीर और रोबिन उथप्पा अधिकांश समय अच्छी शुरूआत का फायदा उठाने में सफल रहे हैं. लेकिन इन तीनों के विफल रहने पर यूसुफ पठान को अधिक जिम्मेदारी लेनी होगी.

मनीष पांडे अच्छी फार्म में हैं लेकिन शेल्डन जैकसन अब तक उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं और ऐसे में झारखंड के इशांक जग्गी को मौका मिल सकता है. दूसरी तरफ इस साल आरसीबी ने सबसे अधिक निराश किया है. टीम चार बार आल आउट हो चुकी है और 12 मैचों में उसके सिर्फ पांच अंक हैं.

कप्तान विराट कोहली के लिए टीम का आत्मविश्वास बढ़ाना आसान नहीं होगा और टीम का इरादा अब बाकी बचे दोनों मैच जीतकर अपनी प्रतिष्ठा बचाने का होगा. टीम पहले ही टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी है और ऐसे में कोहली कुछ युवा खिलाड़ियों को मौका दे सकते हैं. बल्लेबाज टीम का मजबूत पक्ष रहा है लेकिन इस बार क्रिस गेल एबी डिविलियर्स और कोहली जैसे बल्लेबाजों ने निराश किया. केदार जादव के प्रदर्शन में निरंतरता नहीं दिखी जबकि मनदीप सिंह और स्टुअर्ट बिन्नी भी असफल रहे. टीम के दोनों लेग स्पिनरों सैमुअल बद्री (नौ विकेट) और युजवेंद्र चहल (13 विकेट) ने हालांकि प्रभावित किया.

टीमें इस प्रकार हैं:
रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु : विराट कोहली (कप्तान), एबी डिविलियर्स, क्रिस गेल, युजवेंद्र चहल, हषर्ल पटेल, मंदीप सिंह, एडम मिलने, विष्णु विनोद, श्रीनाथ अरविंद, केदार जाधव (विकेटकीपर), शेन वाटसन, स्टुअर्ट बिन्नी, सैमुअल बद्री, इकबाल अब्दुल्ला, ट्रेविस हेड, सचिन बेबी, अवेश खान, तबरेज शम्सी, टाइमल मिल्स, अनिकेत चौधरी, प्रवीण दुबे, बिली स्टेनलेक.

कोलकाता नाइट राइडर्स: गौतम गंभीर (कप्तान), डेरेन ब्रावो, ट्रेंट बोल्ट, पीयूष चावला, नाथन कूल्टर नाइल, कोलिन डि ग्रैंडहोम, रिषि धवन, सायन घोष, शाकिब अल हसन, शेल्डन जैकसन, इशांक जग्गी, कुलदीप यादव, क्रिस वोक्स, क्रिस लिन, सुनील नारायण, मनीष पांडे, यूसुफ पठान, अंकित राजपूत, सूर्यकुमार यादव, रोबिन उथप्पा और उमेश यादव .


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement