NDTV Khabar

IPL10 पंजाब vs गुजरात : मोहाली में बैटिंग ट्रैक पर गेंदबाजों की होगी बल्ले-बल्ले?

10 मैचों में 5 जीत के साथ पंजाब की टीम के प्ले ऑफ की रेस में पहुंचने की उम्मीदें बढ़ गई हैं.

106 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
IPL10 पंजाब vs गुजरात :  मोहाली में बैटिंग ट्रैक पर गेंदबाजों की होगी बल्ले-बल्ले?

गुजरात लायंस और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच रोमांचक मुकाबले की उम्मीद.

खास बातें

  1. प्ले ऑफ में बने रहने के लिए पंजाब का गुजरात लायंस को हराना जरूरी
  2. मोहाली का मैदान बल्लेबाजों के लिए हो सकता है मददगार
  3. लो स्कोरिंग मैच में पंजाब को मिली जीत से उत्साहित है टीम
मोहाली: बैंगलोर के चिन्नास्वामी स्टेडियम में एक लो स्कोरिंग मैच में पंजाब की टीम ने भांगड़ा किया तो उसकी वजह उसके गेंदबाज रहे. संदीप शर्मा और अक्षर पटेल ने 3-3 विकेट झटके जबकि मोहित शर्मा और ग्लेन मैक्सवेल ने 2-2 विकेट लेकर बैंगलोर को पूरे 20 ओवर भी मैदान पर नहीं टिकने दिया (पंजाब 138/7-20ओवर, बैंगलोर 119/10-19 ओवर). इस मैच में पंजाब का हौसला बलंद कर दिया है. खासकर पंजाब के 23 साल के मध्यम तेज गेंदबाज संदीप शर्मा का आत्मविश्वास बल्ले-बल्ले कहने लगा है. संदीप शर्मा ने बैंगलोर के खिलाफ क्रिस गेल, विराट कोहली और एबी डिविलियर्स के विकेट लेकर एक नया रिकॉर्ड तो बनाया ही 9 मैचों में 14 विकेट लेकर वो ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में टॉप पांच गेंदबाजों में शामिल हो गए. 

10 मैचों में 5 जीत के साथ पंजाब की टीम के प्ले ऑफ की रेस में पहुंचने की उम्मीदें बढ़ गई हैं. बड़ी बात ये है कि अपने आखिरी दोनों मैच जीतकर ग्लेन मैक्सवेल की टीम जीत की राह पर लौट आई है. 

मोहाली में गुजरात के खिलाफ होने वाले मैच में उन्हें घरेलू मैदान पर खलने का बड़ा फायदा मिलेगा. लेकिन पंजाब को उसके बाद के बाक़ी के मैच कोलकाता, मुंबई और पुणे जैसी टीमों से टक्कर लेनी है और ये तीनों ही टीमें फिलहाल प्वाइंट्स टेबल में पंजाब से ऊपर हैं. ऐसे में गुजरात के खिलाफ जीत उसके हौसले को बड़ी चुनौतियों के लिए बुलंद कर सकती हैं.

पिछले मैच में हाशिम अमला (9 मैच, 316 रन, 52.66 औसत, नाबाद 104 सर्वाधिक), मार्टिन गप्तिल (3 मैच, 82 रन, 41.0 औसत, नाबाद 50 सर्वाधिक) और शॉन मार्श (5 मैच, 160 रन, 84 सर्वाधिक, औसत 40.0) बेशक फ्लॉप रहे. मगर पंजाब को कप्तान ग्लेन मैक्सवेल (10 मैच, 199 रन, नाबाद 44 सर्वाधिक, 28.5) के साथ इन्हीं बल्लेबाज़ों से ख़ास उम्मीद रहेगी. संदीप शर्मा (9 मैच, 14 विकेट) के साथ अक्षर पटेल (10मैच, 13 विकेट), 

मोहित शर्मा (10 मैच, 9 विकेट)और यहां तक की ऑलराउंडर कप्तान मैक्सवेल (10 मैच, 5 विकेट) की गेंदबाज़ी घातक कॉम्बिनेशन बनाती दिख रही है. गुजरात के लिए फॉर्म में नजर आ रही पंजाब की चुनौती आसान नहीं दिख रही. ब्रेंडन मैक्कलम का चोडिल होकर टूर्नामेंट से बाहर होना प्ले ऑफ़्स की रेस से पहले ही बाहर हो चुकी गुजरात की मुश्किलें बढ़ा सकता है.

वैसे बल्लेबाजी सुरेश रैना (11मैच, 395 रन, सर्वाधिक 84, औसत 49.4), दिनेश कार्तिक (11मैच, 286 रन, 65 सर्वाधिक, 35.75औसत) और एरॉन फ़िंच (10मैच, 226 रन, 25.11 औसत)जैसे बल्लेबाज़ अब भी गुजरात की बैटिंग के कर्णधार माने जा सकते हैं. एंड्रयू टाई और बसिल थंपी जैसे गेंदबाजों के इक्का-दुक्का प्रदर्शन के बावजूद गुजरात की कमजोर गेंदबाजी उसकी परेशानी का सबब बनी हुई है. लेकिन गुजरात अब बिना दबाव के खेलते हुए टूर्नामेंट में किसी भी दूसरी टीम का सफर खराब कर सकती है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement