NDTV Khabar

आईपीएल 2018 में इस उपलब्धि को देखने के लिए तरसते रह गए क्रिकेटप्रेमी...

चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स की खिताबी जीत के साथ आईपीएल 2018 का समापन हो गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आईपीएल 2018 में इस उपलब्धि को देखने के लिए तरसते रह गए क्रिकेटप्रेमी...

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  1. आईपीएल के इस सीजन में कोई गेंदबाज नहीं ले पाया हैट्रिक
  2. इससे पहले वर्ष 2015 में ही हुआ था आईपीएल में ऐसा
  3. अमित मिश्रा के नाम पर दर्ज हैं आईपीएल में तीन हैट्रिक
नई दिल्‍ली:
टिप्पणियां
चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स की खिताबी जीत के साथ आईपीएल 2018 का समापन हो गया. रविवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में महेंद्र सिंह धोनी की कप्‍तानी वाली चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 8 विकेट से पराजित किया. वैसे तो डेढ़ माह से अधिक समय तक चले इस टूर्नामेंट के दौरान कई बेहतरीन गेंदबाजी प्रदर्शन देखने को मिले लेकिन किसी एक गेंदबाज के लगातार तीन गेंदों में विकेट हासिल करने के करिश्‍मे (हैट्रिक) को देखने की क्रिकेटप्रेमियों की चाह पूरी नहीं हो सकी. हालांकि इस सीजन में कई गेंदबाजों ने लगातार दो गेंदों पर विकेट लिए लेकिन हैट्रिक उनकी पहुंच से दूर ही रही. आईपीएल के 11वें सीजन में कोई भी गेंदबाज हैट्रिक नहीं ले पाया. आईपीएल के अब तक के 11 संस्‍करणों में ऐसा दूसरी बार हुआ है जब कोई गेंदबाज हैट्रिक नहीं ले सका. इससे पहले 2015 के आईपीएल सीजन में भी कोई गेंदबाज हैट्रिक नहीं ले पाया था. समग्र रूप से देखें तो आईपीएल में अब तक 16 हैट्रिक दर्ज की जा चुकी हैं. लेग स्पिनर अमित मिश्रा तो इस टूर्नामेंट में तीन बार हैट्रिक ले चुके हैं. मजे की बात यह है कि मिश्रा ने तीन अलग-अलग टीमों की ओर से खेलते हुए यह हैट्रिक ली हैं.  अमित ने वर्ष 2008 के शुरुआती आईपीएल सीजन में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स की ओर से खेलते हुए डेक्‍कन चाजर्स के खिलाफ हैट्रिक ली थी. 2011 के सीजन में उनहोंने डेक्‍कन चार्जर्स की ओर से खेलते हुए किंग्‍स इलेवन पंजाब के खिलाफ फिर 2018 के सीजन में सनराइजर्स की ओर से खेलते हुए पुणे वारियर्स के खिलाफ हैट्रिक ली थी.युवराज सिंह भी आईपीएल में दो हैट्रिक अपने नाम करने में सफल रहे हैं.

वीडियो: चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स तीसरी बार बना आईपीएल चैंपियन
आईपीएल में अब तक हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज इस प्रकार हैं...
लक्ष्‍मीपति बालाजी (चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स) : वर्ष 2008
अमित मिश्रा (दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स): वर्ष 2008
मखाया नतिनी (चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स) : वर्ष 2008
युवराज सिंह  (किंग्‍स इलेवन पंजाब) : वर्ष 2009
रोहित शर्मा  (डेक्‍कन चार्जर्स) : वर्ष 2009
युवराज सिंह  (किंग्‍स इलेवन पंजाब) : वर्ष 2009
प्रवीण कुमार  (रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू) : वर्ष 2010
अमित मिश्रा (डेक्‍कन चार्जर्स) : वर्ष 2011
अजित चंदीला (राजस्‍थान रॉयल्‍स) :वर्ष 2012
सुनील नरेन (कोलकाता नाइटराइडर्स): वर्ष 2013
अमित मिश्रा (सनराइजर्स हैदराबाद): वर्ष 2013
प्रवीण तांबे (राजस्‍थान रॉयल्‍स): वर्ष 2014
शेन वॉटसन (राजस्‍थान रॉयल्‍स):वर्ष 2014
अक्षर पटेल (किंग्‍स इलेवन पंजाब): वर्ष 2016
सैमुअल बद्री (रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू) : वर्ष 2017
आंद्रे टाय (गुजरात लायंस): वर्ष 2017.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement