राजस्थान में भी भारी बारिश से बने बाढ़ के हालात, बारां जिले में 8 लोगों की मौत

राजस्थान में भी भारी बारिश से बने बाढ़ के हालात, बारां जिले में 8 लोगों की मौत

राजस्थान में बाढ़ से निपटने के लिए राहत एवं बचाव कार्य में जुटी सेना

खास बातें

  • बारां जिले के छबड़ा, छीपाबड़ौद और कवाई में बाढ़ जैसे हालात
  • सेना ने दस स्थानों में फंसे 34 लोगों को बाहर निकाला
  • भारी बारिश से 56 गांव जलमग्न हो गए हैं
जयपुर:

मध्यप्रदेश की सीमा से लगे बारां ज़िले में भारी बारिश से छबड़ा, छीपाबड़ौद और कवाई में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं. बारिश की वजह से 8 लोगों की मौत हो गई. उधर, सेना ने दस स्थानों में फंसे 34 लोगों को बाहर निकाला. भारी बारिश की वजह से 56 गांव टापू बन गए हैं.
 


बाढ़ के हालात का जायजा लेने के निकले बारां के कलेक्टर एसपी सिंह ने बताया, "शनिवार को छबड़ा, छीपाबड़ौद और कवाई में 250 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई है." सेना और वायु सेना राहत एवं बचाव कार्य में लगी हुई है.
आरएसी और एसडीआरएफ बारां में जबकि झालावाड़ में एनडीआरएफ की टीम जुटी हुई है.
 

झालावाड़ जिले के मनोहरथाना में शनिवार को रिकॉर्ड 12.5 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई. भारी बारिश के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया और कई बाढ़ की स्थिति बन गई.

इसी तरह के कुछ हालात चित्तौड़गढ़ कस्बे में भी बने हुए हैं. भारी बारिश के चलते गंभीरी और घोसुंडा डैम के फाटक खोलने पड़े जिससे निचले इलाकों में पानी भर गया.
 

शहर की सड़के जलमग्न हो जाने से यातायात बाधित रहा. बाढ़ से निपटने के लिए चित्तौड़गढ़ में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को बुलाया गया है.


हालांकि मौसम विभाग ने अब पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश होने का अनुमान जताया है जिससे मध्य प्रदेश की सीमा से लगे क्षेत्रों में कुछ राहत मिल सकती है.
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com