NDTV Khabar

बेटी हुई तो ससुराल वालों ने बहू को घर से भगा दिया, ससुराल वालों पर आयोग ने कसी नकेल

ससुराल पक्ष द्वारा जयपुर की कानोता निवासी सोनिया बानो (22) को मारपीट कर उसकी पांच दिन की नवजात के साथ भगा देने की मीडिया रिपोर्ट सामने आयी थी.

60 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बेटी हुई तो ससुराल वालों ने बहू को घर से भगा दिया, ससुराल वालों पर आयोग ने कसी नकेल

प्रतीकात्मक फोटो

जयपुर: राजस्थान के जयपुर में बेटी होने के चलते ससुराल पक्ष द्वारा जच्चा-बच्चा को घर में नहीं घुसने देने का मामला सामने आया है. मामले में हस्तक्षेप करते हुए राजस्थान महिला आयोग ने प्रसूता एवं नवजात को सरकारी महिला अस्पताल में भर्ती कराया और उसके ससुराल वालों को तलब किया है.

पढ़ें- राजस्थान : BJP विधायक कीर्ति कुमारी की स्वाइन फ्लू से मौत

राजस्थान राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा ने आज बताया कि बेटी होने के कारण ससुराल पक्ष द्वारा जयपुर की कानोता निवासी सोनिया बानो (22) को मारपीट कर उसकी पांच दिन की नवजात के साथ भगा देने की मीडिया रिपोर्ट सामने आयी थी.

संज्ञान लेते हुए राज्य की महिला आयोग ने प्रसूता और नवजात को जयपुर के महिला अस्पताल में भर्ती करवा दिया है. उन्होंने बताया कि जच्चा-बच्चा स्वस्थ है. सुमन ने कहा कि प्रसूता के ससुराल पक्ष के सदस्यों को समझाने-बुझाने के लिए आयोग बुलाया गया है.

इधर, अस्पताल सूत्रों के अनुसार गत 28 अगस्त को सोनिया बानो ने महिला चिकित्सालय जयपुर में स्वस्थ्य बच्ची को जन्म दिया था. बेटी के जन्म लेने के बाद से ही ससुराल पक्ष के लोग अस्पताल नहीं आये. अस्पताल प्रशासन ने अपने खर्च पर प्रसूता को 29 अगस्त को उसके घर भेज दिया, लेकिन ससुराल पक्ष के लोगों ने उसे घर में घुसने नहीं दिया और मारपीट कर भगा दिया.


उन्होंने बताया कि घटना के बाद प्रसूता ने रेलवे स्टेशन पर शरण लिया था, जहां वह करीब दो दिन रही. एक स्वंयसेवी संगठन की पदाधिकारी ने प्रसूता को रेलवे स्टेशन पर देखकर उसे और उसकी नवजात शिशु को महिला सुरक्षा गृह में भेज दिया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement