NDTV Khabar

शोपियां फायरिंग मामला: पुलिस केस के जवाब में सेना ने दर्ज कराई काउंटर FIR

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सेना की कथित गोलीबारी में हुई दो युवकों की मौत का मामला और तूल पकड़ता दिख रहा है.

115 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
शोपियां फायरिंग मामला: पुलिस केस के जवाब में सेना ने दर्ज कराई काउंटर FIR

शोपियां फायरिंग मामले में तीन की मौत

खास बातें

  1. शोपियां फायरिंग में पूरे तीन की मौत.
  2. सेना ने काउंटर एफआईआर दर्ज कराई.
  3. पुलिस पहले ही एफआईआर दर्ज कर चुकी है.
श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सेना की कथित गोलीबारी में हुई दो युवकों की मौत का मामला और तूल पकड़ता दिख रहा है. इस मामले को लेकर पुलिस की ओर से एफआईआर के बाद सेना ने जवाबी रुख अपनाया है. जम्मू-कश्मीर पुलिस की ओर से सेना पर एफआईआर दर्ज किए जाने के बाद अब सेना ने भी जवाब में काउंटर एफआईआर दर्ज कराई है. बता दें कि 27 जनवरी को सेना ने 27 जनवरी को पत्थर फेंक रही भीड़ पर गोलीबारी की थी. जिसमें दो लोगों की मौत हो गई थी, वहीं आज एक और की मौत हो गई. सेना ने दावा किया कि हमलावर हुई भीड़ के हाथों जवानों के घायल होने के बाद आत्म रक्षा के लिए गोलीबारी की थी.

यह भी पढ़ें - विषम परिस्थिति में गोली चलाई गई : शोपियां में दो लोगों की मौत मामले में सेना के सूत्र

इस एफआईआर में किसी के नाम का उल्‍लेख नहीं है. एनडीटीवी से सेना के सूत्र ने कहा कि एफआईआर में सेना ने उन लोगों की पहचान नहीं की है, जिसने काफिले पर पत्थर और ईंटों से हमला किया और जवानों की जिंदगी को खतरे में डाला और सरकारी संपत्तियों की क्षति पहुंचाई. सेना की मानें तो यह एफआईआर पुलिस द्वारा मामले की जांच करने, संदिग्धों की पहचान करने और उन पर मुकदमा चलाने के लिए है. 

बताया जा रहा है कि तीन लोगों की मौत को लेकर घाटी में तनाव का माहौल है और सेना के खिलाफ में प्रदर्शन भी हो रहे हैं. इससे पहले मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने लोगों को सेना के खिलाफ पुलिस केस को लेकर आश्वस्त किया था. बता दें कि सेना पर एफआईआर के बाद यह मामला गरमा गया था. महबूबा मुफ्ती ने कहा कि सेना के खिलाफ एफआईआर रक्षामंत्री से बात करने के बाद दर्ज की गई है. मुफ्ती ने बताया कि रक्षामंत्री ने कहा कि एक्शन लिया जाना चाहिए अगर गैरजिम्मेदाराना रवैया अपनाया गया है या फिर कुछ गलत हुआ है. इसी के बाद एफआईआर दर्ज की गई और मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए.

यह भी पढ़ें - रक्षामंत्री से बात के बाद ही सेना के अधिकारी के खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर : महबूबा मुफ्ती

टिप्पणियां
बता दें कि 27 जनवरी  को तीन क्विक रिएक्शन टीमों समेत सेना की बीस गाड़ियों का काफिला शोपियां में बालापुरा से घनपुरा की ओर जा रहा था. तभी चार गाड़ियां काफिले से कुछ अलग हो गई. तभी कट्टरपंथियों की भीड़ ने उग्र होकर पत्थरबाजी शुरू कर दी. शुरू में सेना का एक जेसीओ सर पर पत्थर लगने से घायल होकर गिर गया. इसके बाद सेना के जवानों ने पत्थरबाजों को चेतावनी दी. बार-बार चेतावनी के बावजूद भीड़ पर कोई फर्क़ नहीं पड़ा. इसके बाद सेना ने हवाई फायरिंग करके आगाह किया. बाद में सेना ने आत्मरक्षा में गोली चलाई.

VIDEO: कश्मीर के शोपियां में मुठभेड़, दो जवान शहीद


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement