NDTV Khabar

जम्मू-कश्मीर के सियासी हालात पर चर्चा के लिए BJP ने बुलाई कोर ग्रुप की मीटिंग, पीएम मोदी ले सकते हैं हिस्सा

जम्मू-कश्मीर की मौजूदा सियासी स्थिति पर चर्चा के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मंगलवार को बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक बुलाई है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू-कश्मीर के सियासी हालात पर चर्चा के लिए BJP ने बुलाई कोर ग्रुप की मीटिंग, पीएम मोदी ले सकते हैं हिस्सा

सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में पीएम मोदी और अमित शाह भी शामिल हो सकते हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. BJP ने बुलाई कोर ग्रुप की मीटिंग
  2. जम्मू-कश्मीर के सियासी हालात पर होगी चर्चा
  3. पीएम मोदी ले सकते हैं मीटिंग में हिस्सा
नई दिल्ली :

जम्मू-कश्मीर की मौजूदा सियासी स्थिति पर चर्चा के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मंगलवार को बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक बुलाई है. इस बैठक में पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा चुनाव की तैयारियों के अलावा सदस्यता अभियान तथा मौजूदा हालात पर चर्चा करेंगे. सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह समेत अन्य शीर्ष नेताओं के भी हिस्सा लेने की संभावना है. मोदी और शाह की संभावित उपस्थिति अहम है और इस बात का इशारा करती है कि पार्टी विधानसभा चुनाव के लिए कमर कसने में जुट गयी है. केंद्र और राज्य सरकार से कानून व्यवस्था सही होने की सूचना मिलने के बाद चुनाव आयोग प्रदेश में विधानसभा चुनाव के तारीखों की घोषणा कर सकता है.  

अनुच्छेद 35 ए से छेड़छाड़ करना बारूद में आग लगाने जैसा होगा : महबूबा मुफ्ती


टिप्पणियां

सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह, भाजपा महासचिव राममाधव, प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना और राज्य के अन्य वरिष्ठ नेता इस बैठक में शामिल होंगे. इन नेताओं के अलावा पार्टी के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा भी बैठक में हिस्सा लेंगेजम्मू कश्मीर के लिए पार्टी के मुख्य रणनीतिकार राम माधव ने इससे पहले चुनाव आयोग से इस साल प्रदेश में चुनाव कराने की अपील की थी. प्रदेश भाजपा ने कहा है कि वह किसी भी समय चुनाव के लिए तैयार है. पार्टी महासचिव नारिंदर सिंह ने कहा कि चुनाव आयोग के पास इस साल चुनाव कराने के लिए काफी समय बचा है. 2014 में जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव नवंबर-दिसंबर में हुए थे. जम्मू कश्मीर में फिलहाल राष्ट्रपति शासन है और उसे तीन जुलाई से छह और महीने के लिए बढ़ाया गया है. (इनपुट-भाषा से भी)  

जम्मू-कश्मीर को लेकर अमित शाह से उम्मीदें?​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement