CRPF के खोजी कुत्ते ने ऐसे ढूंढ निकाला जमीन के नीचे दबे शख़्स को, देखें- VIDEO 

कहावत है कि 'जाको राखे सांइयां, मार सके न कोई'. जम्मू-कश्मीर के रामबन में यह कहावत सही साबित होती नजर आई.

खास बातें

  • रामबन में भूस्खलन के बाद मलबे में दब गया था शख़्स
  • सीआरपीएफ बचाव के लिए चला रही थी अभियान
  • खोजी कुत्ते की मदद से शख़्स को मलबे से बाहर निकाला गया
नई दिल्ली :

कहावत है कि 'जाको राखे सांइयां, मार सके न कोई'. जम्मू-कश्मीर के रामबन में यह कहावत सही साबित होती नजर आई. दरअसल, जम्मू-कश्मीर के रामबन में भूस्खलन के बाद मंगलवार रात एक शख्स भूस्खलन में दब गया. इसके बाद सीआरपीएफ ने खोजी कुत्तों की मदद से शख़्स को ढूंढना शुरू किया. आखिरकार खोजी कुत्तों ने शख़्स को ढूंढ ही लिया. इसके बाद बुधवार को सीआरपीएफ ने शख़्स को सावधानी से बाहर निकाल लिया. फिलहाल उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में भूस्खलन के बाद श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई है. वहीं, खबर है कि राज्य के ऊधमपुर जिले में बारिश से जुड़ी घटना में एक बच्चे की मौत हो गई.  


रामबन में भूस्खलन से जम्मू-कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अधिकारियों ने बताया कि किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए अमरनाथ यात्रा भी एहतियाती तौर पर रोक दी गई है. उधमपुर जिले में भारी बारिश के कारण दो घरों के ढहने से आठ वर्षीय एक बच्चे की मौत हो गई और 13 वर्षीय एक बच्ची घायल हो गई. ऊधमपुर और लौंदना इलाके में मंगलवार रात हुए हादसे में पवन कुमार की मौत हो गई और सुनीता गंभीर रूप से घायल हो गई. दूसरी तरफ,  रुक-रुककर बारिश से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के निकट बल्ली नाला के मोरह पस्सी में भूस्खलन होने से कश्मीर को देश के बाकी से जोड़ने वाला एकमात्र राजमार्ग भी बंद हो गया. अधिकारी ने कहा, ‘भारी बारिश 270 किमी लंबे राजमार्ग से मलबा हटाने का काम बाधित हो रहा है.' अधिकारी ने बताया कि राजमार्ग बंद होने से अमरनाथ यात्रा दिन के लिए रोक दी गई. (इनपुट-भाषा से भी)