जम्मू-कश्मीर में आतंक के खिलाफ सबसे बड़े ऑपरेशन की तैयारी, NSG के कमांडो तैनात

जम्मू-कश्मीर में एनएसजी की टीम तैनात की गई है. गृह मंत्रालय को उम्मीद है कि एनएसजी की वजह से वहां ऑपरेशन्स में मरने वाले आम मागरिक की तादाद घटेगी.

जम्मू-कश्मीर में आतंक के खिलाफ सबसे बड़े ऑपरेशन की तैयारी, NSG के कमांडो तैनात

गृह मंत्रालय को उम्मीद है कि कश्मीर में NSG को भी मुठभेड़ों का अनुभव मिलेगा. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • एनएसजी की हिट हाउस इंटरवेंशन टीम तैनात
  • NSG के रहने से कैजुअल्टी घटेगी: गृह मंत्रालय
  • एनएसजी को भी मुठभेड़ों का अनुभव मिलेगा
नई दिल्ली:

जम्मू कश्मीर में बढ़ रही आतंकी घटनाओं के बीच वहां NSG की टीम तैनात की गई है. गृह मंत्रालय को उम्मीद है कि एनएसजी की तैनाती से वहां आतंकी घटनाओं पर लगाम लगेगा. साथ ही NSG को भी लाइव मुठभेड़ों से निपटने का अनुभव प्राप्त होगा. हालांकि वहां कई एजेंसियां होने की वजह से सेना को कुछ एतराज़ था, लेकिन पिछले ही महीने गृह मंत्रालय ने इनकी तैनाती को हरी झंडी दे दी थी. फिलहाल NSG बीएसएफ़ के साथ मिलकर उनके हुमहमा कैंप में ट्रेनिंग कर रही है.

यह भी पढ़ें : कश्मीर में सुरक्षा बलों ने तीन शीर्ष आतंकवादियों को मार गिराया

जम्मू में फिलहाल NSG की हिट हाउस इंटरवेंशन की टीम भेजी गई है. हाउस इंटरवेंशन टीम हॉस्टेज परिस्थिति से निपटने में बहुत कारगर साबित होती है. अभी तक ऐसी स्थिति से निपटने के लिए आर्मी और सीआरपीएफ अपना अभियान चलाती है. ऑपरेशन के दौरान वह फायर पावर का ज्यादा इस्तेमाल करती है, जिसके कारण सुरक्षाकर्मी या आम नागरिकों को ज्यादा क्षति पहुंचती है. गृह मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 2017 सुरक्षाबल के 82 लोग मारे गए थे और इस साल अब तक करीब 34 लोग मारे जा चुके हैं. वहीं, आम लोगों की बात करें तो 2017 में 68 लोग मारे गए थे और इस साल अभी तक 38 लोग मारे गए हैं. 
 

nsg
जम्मू कश्मीर में हाई रिस्क अभियानों में होगा NSG का इस्तेमाल.

गृह मंत्रालय का मानना है कि हाउस इंटरवेंशन की टीम के जरिये ऐसे ऑपरेशन को अंजाम दिया जाएगा, जिससे मरने वालों का आंकड़ा कम किया जाएगा, क्योंकि ये सभी काफी ट्रेंड स्नाइपर्स होते हैं. वहीं दूसरी बात यह है कि एनएसजी की टीम अभी तक लाइव ऑपरेशन नहीं करती थी, वह सिर्फ ट्रेनिंग करती थी. अब वह एनकाउंटर में भी शामिल होंगी. गौरतलब है कि पिछले काफी महीनों से जम्मू में एनएसजी की तैनाती की बात की जा रही थी. 

Newsbeep

VIDEO : जम्मू में आतंक के खिलाफ ऑपरेशन करेंगे NSG कमांडो

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि जम्मू कश्मीर में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का गठबंधन टूटने के बाद यहां राज्यपाल शासन बहाल कर दिया गया है.