भारतीय सेना के अधिकारी का खुलासा, आतंकियों के निशाने पर अमरनाथ यात्रा

अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) को निशाना बनाने के लिए आतंकवादियों के साजिश रचने के बारे में जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में सुरक्षाबलों को खुफिया सूचना मिली है.

भारतीय सेना के अधिकारी का खुलासा, आतंकियों के निशाने पर अमरनाथ यात्रा

अमरनाथ यात्रा पर आतंकी साजिश का अलर्ट. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • अमरनाथ यात्रा पर आतंक की साजिश
  • सेना के एक अधिकारी ने किया खुलासा
  • 21 जुलाई से शुरू हो रही अमरनाथ यात्रा
श्रीनगर:

अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) को निशाना बनाने के लिए आतंकवादियों के साजिश रचने के बारे में जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में सुरक्षाबलों को खुफिया सूचना मिली है. थल सेना के एक अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. हालांकि, उन्होंने जोर देते हुए कहा कि वार्षिक यात्रा को निर्बाध सुनिश्चित करने के लिए पूरी व्यवस्था की गई है एवं संसाधन लगाए गए हैं. अधिकारी ने कहा कि शुक्रवार की मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के एक स्वयंभू कमांडर सहित तीन आतंकवादियों का मारा जाना एक मुंहतोड़ जवाब है. यह 21 जुलाई को यात्रा शुरू होने से महज चार दिन पहले हुआ.

टू सेक्टर के कमांडर, ब्रिगेडियर विवेक सिंह ठाकुर ने दक्षिण कश्मीर में संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘इस बारे में खुफिया सूचना है कि आतंकवादी यात्रा को निशाना बनाने की अपनी पूरी कोशिश करेंगे, लेकिन इसके निर्बाध एवं शांतिपूवर्क संपन्न होने की व्यवस्था की गई है तथा संसाधन लगाये गए हैं. ''

उन्होंने कहा, ‘‘हम अमरनाथ यात्रा बगैर किसी विघ्न के शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिये प्रतिबद्ध हैं और सुरक्षा स्थिति नियंत्रण में बनी रहेगी. '' ब्रिगेडियर ठाकुर ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग 44 के एक हिस्से का उपयोग यात्री करेंगे, जो संदेनशनील बना रहेगा. उन्होंने कहा, ‘‘यह हिस्सा थोड़ा संवेदनशील है. यात्री सोनमर्ग (गंदेरबल) तक जाने के लिये इस रास्ते का उपयोग करेंगे और यह (बलटाल) एकमात्र मार्ग है, जो अमरनाथ गुफा जाने के लिए चालू रहेगा.''

Newsbeep

VIDEO: 21 जुलाई से शुरू हो रही अमरनाथ यात्रा, रहेंगी ये पाबंदियां

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)